गोरखपुर...फांसी लगाकर दी जान:कर्ज में डूबा था राजमिस्त्री, 20 वर्षों से ससुराल में रहता था, कमरे में फंदा लगाकर की आत्महत्या

गोरखपुर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने सर्वजीत के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और मामले की पड़ताल में जुट गई। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने सर्वजीत के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और मामले की पड़ताल में जुट गई।

गोरखपुर में कर्ज में डूबे एक राजमिस्त्री ने घर में ही छत की कुंडी से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। घटना सहजनवा इलाके के जगदीशपुर गाही टोला में शुक्रवार देर रात की है। सुबह जानकारी होने पर परिवार के लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और मामले की पड़ताल में जुट गई।

बिना बताए 15 दिन पहले घर से निकला था
सहजनवा इलाके के नचनी के रहने वाले सर्वजीत (40) शादी के बाद से ही बीते 20 वर्षों से जगदीशपुर गाही में ससुराल में नेवासे पर रहता था। माता-पिता की मौत के बाद वह नचनी गांव का मकान और खेत बेच चुका था। परिजनों के मुताबिक, उसने ब्याज पर कई लोगों से लाखों रुपये कर्ज लिया था। इसे लेकर आए दिन लोग पैसे के वापस करने के लिए दबाव बना रहे थे। इस कारण वह भागा-भागा फिरता था। वहीं, परिवार के लोगों को बिना बताए 15 दिन पहले वह घर से निकला था।

गांव के मकान में फंदे से लटका मिला सर्वजीत
रात में वह गांव के ही अपने नव निर्मित मकान में गमछे का फंदा बनाकर फांसी पर लटक गया। सुबह जब पत्नी उस घर पर कुछ काम के लिए गई तो देखा कि वह फंदे से लटका है। यह देख पत्नी शोर मचाने लगी। परिजन उसे फंदे से नीचे उतारे। लेकिन, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। लोगों ने तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी। सर्वजीत राजमिस्त्री का काम करके परिवार का भरण-पोषण करता था। वह तीन बच्चों का पिता भी था।

खबरें और भी हैं...