पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोरखपुर में गांव-गांव सैंपलिंग:कोरोना टिस्टिंग को लेकर हुआ सीरो सर्वे अभियान, 10 टीम 3 दिन तक शहर और गांव में करेंगी सैम्‍पलिंग

गोरखपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • 10 टीम 31 स्‍पॉट पर सीरो सर्वे द्वारा कोविड संक्रमित हुए लोगों में एंटीबॉडी की सैंपलिंग करेंगी।

कोरोना की दूसरी लहर के बाद एक बार फिर यूपी के सभी 75 जिलों में सरकार ने सीरो सर्वे शुरू कराया है। गोरखपुर में भी शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में तीन दिन तक चलने वाला सर्वे का काम शुक्रवार से शुरू हो गया। 10 टीमें 31 स्‍पॉट पर सर्वे करेंगी। इससे ये पता लगाया जा सकेगा कि कोरोना पॉजिटिव होने के बाद उनके शरीर में कितने प्रतिशत एंटी बॉडी बनी है।

10 टीम 35 स्पॉट पर सर्वे करेंगी
गोरखपुर के मुख्‍य चिकित्‍साधिकारी डा. सुधाकर पाण्‍डेय ने बताया कि सरकार की मंशा के तहत प्रदेश के सभी जिलों में सीरो सर्वे किया जा रहा है। उन्‍होंने बताया कि सीरो सर्वे के लिए 10 टीमें तैयार हो गई हैं। कई ब्‍लाकों में सीरो सर्वे किया जा रहा है। एक मेडिकल अफसर, खून लेने वाले एलटी और उनके सहयोगी तैयार हैं। उन्‍होंने बताया कि कोरोना पॉजिटिव होने के बाद निगेटिव होने पर लोगों के शरीर में कितनी एंटीबॉडी डेवलप हुई है इसका भी पता लगाया जाएगा।

ऐसे किया जाएगा सीरो सर्वे
गोरखपुर के डिस्ट्रिक सर्विलांस अफसर डा. अरुण कुमार चौधरी ने बताया कि पूरे जिले की 31 जगहों पर ये सर्वे चलेगा। जिसमें सभी ब्‍लॉक को कवर किया जाएगा। कभी-कभी लोगों को पता भी नहीं चलता है कि वे पॉजिटिव हुए हैं और उनकी प्रतिरोधक क्षमता डेवलप हो जाती है। उन्‍होंने बताया कि गोरखपुर के कुल 20 ब्‍लॉक को इसमें कवर किया जाएगा। किसी भी गांव को चिहि्नित कर उसे चार भागों में बांटा जाएगा। इसके बाद दो पुरुष और दो महिलाओं के साथ दो बच्‍चों का सैंपल लिया जाएगा। हर गांव से 24 सैंपल लिए जाएंगे।
शुक्रवार को ब्रह्मपुर ब्‍लॉक के दीवां गांव में सीरो सर्वे लेने के लिए टीम पहुंची। जहां दीवां और एक अन्‍य गांव में कुल 24-24 यानी 48 सैंपल लिए गए।