पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • The Temple, Which Was Inaugurated By Yogi, Is Now Occupied By The Land Mafia; When The Matter Reached, The CM Became Angry, Said Immediately Vacate The Possession,Yogi Adityanath In Gorakhpur Latest Updates। Jatna Darbar CM Yogi Adityanath Fariyadi Gorakhpur Uttar Pradesh, Gorakhpur, Gorakhpur News, CM Yogi In Gorakhpur, CM Yogi, Yogi Aditya Nath, CM Yogi Adityanath, Yogi, UP CM, Gorakhnath Mandir Gorakhpur, Breking News Gorakhpur

जिस मंदिर का योगी ने लोकार्पण किया उस पर कब्जा:गोरखपुर में भू-माफियाओं पर मेहरबान DM और SSP पर भड़के CM योगी, बोले- तुरंत मंदिर से कब्जा हटवाओ

गोरखपुर2 महीने पहले
सीएम योगी के निर्देश पर आला अफसर मौके पर पहुंच गए और कब्जा खाली कराया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां सांसद रहते हुए जिस मंदिर का सीएम योगी ने लोकार्पण किया था उसपर अब भू-माफियाओं ने कब्जा कर लिया है। रविवार को गोरखपुर में लगे जनता दरबार में मंदिर के महंत ने जब इसकी शिकायत की तो मुख्यमंत्री अफसरों पर भड़क उठे। उन्होंने DM विजयेंद्र पांडियन और SSP दिनेश कुमार प्रभु को डांटते हुए तुरंत मंदिर से कब्जा हटवाने का आदेश दे दिया।

सीएम की फटकार लगते ही कब्जा खाली कराया
मामला रामगढ़ताल इलाके के महेवा एहतमाली बंधे पर बने समैय माता का मंदिर का है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सांसद रहते हुए इस मंदिर का लोकार्पण किया था। अब इस मंदिर पर भू-माफियाओं ने कब्जा कर लिया है। मंदिर के महंत चेतन गिरी उर्फ नागा बाबा ने भू-माफियाओं की शिकायत कई बार पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों से की। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। उन्हें जब इंसाफ नहीं मिला तो वह सीएम योगी की शरण में पहुंच गए।

सीएम योगी भी दो बार अफसरों को मंदिर से कब्जा हटाने का निर्देश दे चुके थे। इसके बावजूद मंदिर कब्जा मुक्त नहीं हुआ। रविवार को फिर शिकायत मिलने के बाद मुख्यमंत्री आगबबूला हो गए। उन्होंने मौके पर मौजूद DM और SSP को डांटते हुए तुरंत कब्जा हटवाने का आदेश दे दिया। इसके बाद अफसर भी हरकत में आ गए और दो घंटे के अंदर ही मंदिर को कब्जा मुक्त करा दिया।

सीएम के पास पहुंचते ही रोने लगे महंत
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलते ही मंदिर के महंत चेतन गिरी की आंखें नम हो गई। उन्होंने सीएम योगी को अपनी आपबीती सुनाई। सीएम योगी ने भी उन्हें देखते ही पहचान लिया। उन्होंने चेतन गिरी से उनका कुशलक्षेम पूछा। चेतन गिरी ने मुख्यमंत्री को बताया कि किस तरह जिले का पुलिस प्रशासन उनके निर्देश के बाद भी भू-माफियाओं पर मेहरबान है और डेढ़ साल से उनकी सुनवाई नहीं हो रही है।

चेतन गिरी उर्फ नागा बाबा के मुताबिक उन्होंने इसकी शिकायत करीब डेढ़ वर्ष पूर्व यहां अधिकारियों व पुलिस से की थी।
चेतन गिरी उर्फ नागा बाबा के मुताबिक उन्होंने इसकी शिकायत करीब डेढ़ वर्ष पूर्व यहां अधिकारियों व पुलिस से की थी।

महंत ने अपनी जान का बताया खतरा
सीएम योगी के निर्देश पर आला अफसर मौके पर पहुंच गए और कब्जा खाली कराया। उधर, चेतन गिरी उर्फ नागा बाबा का आरोप है कि आरोपी रमाशंकर सोनकर बेहद दबंग और अपराधी किस्म का व्यक्ति है। वह और उसके परिवार के लोग लगातार उन्हें जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। नागा बाबा के मुताबिक उनकी जान को खतरा है। ऐसे में उन्होंने भयवश अपनी सुरक्षा के लिए कहीं और जाकर शरण ले ली है। उन्होंने सोमवार को मुख्यमंत्री कार्यालय जाकर फिर सीएम से मुलाकात करने की बात कही है। उन्होंने ये भी कहा कि जब तक भू-माफियाओं पर कार्रवाई नहीं होती, तब तक मैं गोरखपुर नहीं आऊंगा।

सीएम के निर्देश पर आला अफसर मौके पर पहुंच गए और कब्जा खाली कराया।
सीएम के निर्देश पर आला अफसर मौके पर पहुंच गए और कब्जा खाली कराया।

भू-माफिया ने गिराई थी शिक्षक की बाउंड्री
बता दें कि अभी एक हफ्ते पहले आरोपी रमाशंकर सोनकर ने रायगंज निवासी विजय कसेरा की जमीन पर पुलिस के सहयोग से पक्की बाउंड्रीवाल को ध्वस्त करा दिया था। इस मामले में एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु के निर्देश पर पुलिस ने केस तो दर्ज कर लिया, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं की। आरोप है कि फलमंडी चौकी पर तैनात कुछ पुलिसकर्मियों का आरोपी रमाशंकर के घर आना जाना है।उसके घर आए दिन पुलिस की दावत भी चलती है। यह मामला एसएसपी के संज्ञान में आने के बाद उन्होंने इसकी जांच भी शुरू करा दी है।

खबरें और भी हैं...