गोरखपुर में फिर एक्टिव हुआ 'बिच्छू गैंग:सोशल मीडिया पर वायरल हुआ गैंग के आतंक का वीडियो, लाठी- डंडा और सिर पर लाल पगड़ी है 'बिच्छू गैंग' की पहचान

14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इस बार बिच्छू गैंग का जो वीडियो सामने आया है, वह गोला इलाके के झरकटा गांव का बताया जा रहा है। - Dainik Bhaskar
इस बार बिच्छू गैंग का जो वीडियो सामने आया है, वह गोला इलाके के झरकटा गांव का बताया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले का बिच्छू गैंग एक बार फिर सक्रिय हो गया है। इस गैंग के कारनामों का वीडियो इन दिनों फिर सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। इस बार बिच्छू गैंग का जो वीडियो सामने आया है, वह गोला इलाके के झरकटा गांव का बताया जा रहा है। जिसमें बड़ी संख्या में गैंग में शामिल युवक हाथ में लाठी डंडा लेकर गांव में तांडव मचा रहे हैं।

बावजूद इसके अब तक पुलिस की ओर से इसपर कोई कार्रवाई न करने को लेकर लोगों में दहशत का माहौल है। हालांकि सीओ गोला जगतराम कन्नौजिया का कहना है कि बिच्छू गैंग के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। अभी तक हुई घटना के बारे में कार्रवाई के लिए थानाध्यक्ष को कहा गया है।

फिर वायरल हुआ वीडियो
वायरल वीडियो मंगलवार की दोपहर का बताया जा रहा है। जिसमें बड़ी संख्या में युवक बीते सोमवार को हुए विवाद के मामले में एक पक्ष के दरवाजे पर चढ़कर तांडव मचा रहे हैं। गैंग के इस आतंक से आसपास के इलाकों में दशहत फैल गया है। हालांकि इस घटना के बाद मौके पर पुलिस भी पहुंची, लेकिन पुलिस दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर कर वापस चली गई।

क्या है मामला?
दरअसल, गोला के बिसरा की रहने वाली शिवचंद्र की पत्नी गीता देवी ने पुलिस को जो तहरीर दी है, उसके मुताबिक उनका मायका झरकटा गांव में है। वे भतीजे की शादी में मायके गई हुई थीं। सोमवार की शाम को वह रामधनी की पत्नी सुमित्रा की गुमटी पर बातचीत कर रही थीं, तभी गांव की शांति नाम की महिला ने उनके साथ विवाद शुरू कर दिया। स्थिति मारपीट में तब्दील हो गई। मंगलवार की सुबह शांति व उनके परिवार के लोग फिर से उनकी गुमटी पर आकर गाली—गलौज करने लगे और आरोप है कि दुकान में रखा काफी सामान नुकसान कर दिया। इस मामले में पुलिस ने कुछ लोगों पर कार्रवाई भी की। आरोप है कि इसके बाद इस गैंग के लोगों को जैसे ही इसकी जानकारी हुई, उन्होंने गांव में आतंक शुरू कर दिया। इस बीच किसी ने इसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया।

व्हाट्सअप ग्रुप से जुड़े हैं गैंग के सदस्य
ग्रामीणों के मुताबिक बिच्छू गैंग के सदस्य व्हाट्सअप ग्रुप से आपस में जुड़े हुए हैं। वह ग्रुप के किसी सदस्य द्वारा किसी घटना की जानकारी दिए जाने व सहयोग मांगें जाने पर आधे घंटे के भीतर जुट जाते हैं। गैंग के लोगों की पहचान सिर पर लाल पगड़ी होती है और वे काफी अधिक संख्या में आकर किसी को पीटकर फरार हो जाते हैं।

पहले भी कई घटनाओं में आ चुका है गैंग का नाम
ऐसा नहीं है कि छेड़खानी की घटना में पहली बार बिच्छू गैंग का नाम आया है। बल्कि बीते दो साल में कई मामलों में गैंग का नाम सामने आया लेकिन अभी तक पुलिस की ओर से इसपर कोई कार्यवाही नहीं की गई। जबकि पुलिस को पूरी तरह गैंग व उसकी सक्रियता की जानकारी है।

  • बीते मई महीने में मिश्रौली गांव के भाजपा नेता के घर पर चढ़कर कुछ लोगों ने ईंट-पत्थर आदि चलाया था। इस मामले में भी इंटरनेट मीडिया पर भाजपा नेता ने बिच्छू गैंग घटना में शामिल होने की बात कही थी। उसके बाद पूर्व मंत्री राजेश त्रिपाठी व सांसद कमलेश पासवान ने सोशल मीडिया पर शिकायत कर प्रशासन पर कार्यवाही की मांग की।
  • मार्च 2021 में शिवपुर गांव में कुछ युवकों ने एक युवक को बुरी तरह पीट दिया। इस मामले में भी बिच्छू गैंग की बात सामने आई थी।
  • इससे पहले मेहड़ा गांव में भी हुई मारपीट में बिच्छू गैंग की बात सामने आई थी।
  • पंचायत चुनाव के दौरान क्षेत्र के भर्रोह गांव में कुछ युवकों ने घेरकर लाठी-डंडों से चार-पांच युवकों का सिर फोड़ दिया था। इस मामले में भी बिच्छू गैंग की बात सामने आई थी।
खबरें और भी हैं...