• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • The Villagers Surrounded The Lekhpal, Broke The Head's Son's Car; Villagers Accused Lekhpal Of Demanding Money, Force Deployed In The Village,Gorakhpur, Gorakhpur News, Gorakhpur Crime News, Gorakhpur Police, Bawal, Lekhpal, Breking News Gorakhpur, Gorakhpur News Today

गोरखपुर में पैमाइश के दौरान बवाल:ग्रामीणों ने प्रधान पुत्र की गाड़ी तोड़ी, लेखपाल पर लगाया रुपए मांगने का आरोप, गांव में फोर्स तैनात

गोरखपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने काफी देर तक मशक्कत करने के बाद किसी तरह से लेखपाल को बचाया। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने काफी देर तक मशक्कत करने के बाद किसी तरह से लेखपाल को बचाया।

गोरखपुर में जमीन की पैमाइश को लेकर बवाल हो गया। यहां गुलरिहा इलाके के पिपरी गांव के जमुनहवा टोले में राजस्व टीम ने मौके से एक कब्जेदार का ही कब्जा हटाने की कोशिश की। जिसपर भड़के ग्रामीणों ने वसूली का आरोप लगाते हुए लेखपाल को घेर लिया। पुलिस ने काफी मशक्कत कर किसी तरह से लेखपाल को पुलिस जीप में बैठाकर बचाया। वहीं मौके पर पहुंचे प्रधान पुत्र की गाड़ी को ग्रामीणों ने क्षतिग्रस्त कर दिया। उसने भागकर एक मकान में छिपकर अपनी जान बचाई। बवाल की सूचना पाते ही पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई। एहतियातन गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है।

सिर्फ का कब्जा हटा रही थी टीम
जमुनहवा टोला में एक जमीन को चंडी प्रसाद ने सुदर्शन निषाद को बेचा था। इसके अलावा उनके बगल में भी कई जमीन है। बताया जा रहा है कि यहां पर 6 से 7 लोगों ने कब्जा कर लिया है और जमीन पर पक्का निर्माण भी करा लिए हैं। शिकायत के बाद ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने पैमाइश कर अवैध कब्जा को हटाने का निर्देश दिया था। सोमवार की शाम में राजस्व टीम पुलिस के साथ गांव में पहुंची थी। ग्रामीणों का आरोप है कि सभी का कब्जा ना हटाकर सिर्फ एक ही शख्स को प्रधानपुत्र के इशारे पर हटाया जा रहा था।

लेखपाल पर रुपए मांगने का आरोप
वहीं लेखपाल पर रुपये मांगने का भी आरोप लगाया। देखते ही देखते विवाद बढ़ गया और बवाल होने लगा। गुस्साए ग्रामीणों ने मारने के लिए लेखपाल को दौड़ा लिया और पुलिस जीप के पास ही उन्हें घेर लिया। पुलिस वालों ने किसी तरह से लेखपाल को बचाया। इसी बीच हंगामे की सूचना पर प्रधान कौला देवी के पुत्र प्रमोद सिंह भी पहुंच गए।

ग्रामीणों ने प्रधान की वजह से ऐसी कार्रवाई किए जाने का आरोप लगाते हुए उन्हें दौड़ा लिया। कोटेदार के मकान में भागकर उन्होंने जान बचाई। गुस्साए ग्रामीणों ने बाहर खड़ी उनकी कार को क्षतिग्रस्त कर दिया है। प्रभारी निरीक्षक गुलरिहां विनोद कुमार अग्निहोत्री ने बताया कि तोड़फोड़ की जानकारी हुई है। तहरीर मिलने पर आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...