• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • The Woman Had Come For Ear Treatment, The Public Handed It Over To The Police After Beating, The Doctor Has Already Been Jailed For Doing Obscene Acts With A Female Patient

गोरखपुर में डॉक्टर ने महिला से की अश्लील हरकत:कान का इलाज कराने पहुंची थी, पब्लिक ने पीटा; आरोपी डॉक्टर कांग्रेस जनजाति मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष है, पहले भी जेल जा चुका है

गोरखपुरएक महीने पहले

गोरखपुर के बांसगांव इलाके में कौड़ीराम कस्बे में मंगलवार की शाम कान का इलाज कराने आई एक महिला ने डॉक्टर पर गंभीर आरोप लगाते हुए हंगामा खड़ा ​कर दिया। महिला का आरोप है कि डॉक्टर उसके साथ अश्लील हरकत कर रहा था। शोर सुनकर जुटी भीड़ ने डॉक्टर की जमकर पिटाई कर दी और फिर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है।

आरोपी डॉक्टर कांग्रेस जनजाति मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष भी है। वह पहले भी ऐसी करतूत के लिए जेल जा चुका है। उस पर देर रात केस दर्ज कर लिया गया है।

चैंबर से चीखते हुए बाहर आई महिला
गगहा इलाके के सिहाइचपार के रहने वाले डॉक्टर गणेश गोंड ने कौड़ीराम कस्बे में सर्वोदय किसान इंटर कॉलेज के पास रेशमदीप ईएनटी क्लीनिक खोल रखा है। मंगलवार की शाम इलाके की ही एक महिला अपनी बड़ी बहन के साथ कान का इलाज कराने क्लीनिक पर पहुंची। महिला का आरोप है कि डॉक्टर उसे अकेले चैंबर में बुलाकर चेकअप के बहाने अश्लील बातें करने लगा।

डॉक्टर की हरकत से हैरान महिला रोते चीखते चैंबर से निकली और हंगामा करने लगी। महिला का शोर सुनकर आसपास के लोग जुट गए और आरोपी डॉक्टर को चैंबर से बाहर निकाल कर पिटाई शुरू कर दी। डॉक्टर ने भागकर किसी तरह भीड़ से जान बचाई। इसके बाद नाराज लोगों ने डॉक्टर को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया।

पहले भी जेल जा चुका है डॉक्टर
इससे पहले डॉक्टर गणेश गोंड पर बीते साल 17 अक्टूबर को एक महिला ने अश्लील हरकत करने का आरोप लगाया था। इस मामले में डॉक्टर पहले जेल भी जा चुका है। गगहा इलाके की ही एक महिला को गले में दर्द था। इलाज कराने आई महिला को डॉक्टर ने टांसिल की समस्या बताते हुए अश्लील हरकत शुरू कर दी थी थी। उस समय भी मौके पर जुटे लोगों ने पिटाई करने के बाद पुलिस को सुपुर्द कर दिया था। पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी डॉक्टर को जेल भेजा था।

कांग्रेस जनजाति मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष है आरोपी डॉक्टर
वहीं, अश्लील हरकत का आरोपी डॉक्टर गणेश गोंड कांग्रेस पार्टी के अनुसूचित जनजाति प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष है। इसके पहले वह गोंडवाना पार्टी का राष्ट्रीय पदाधिकारी भी रह चुका है। डॉक्टर गणेश खुद को नाक कान और गला की सर्जरी का मास्टर डिग्री धारक बताता है। उसने अपनी कार पर गुरु गोरक्षनाथ चिकित्सालय का पूर्व चिकित्साधिकारी भी लिखवा रखा है। इसके अलावा वह गोरखपुर से लेकर कुशीनगर तक विभिन्न जगहों पर क्लीनिक भी खोल रखा है।

आरोपी डॉक्टर बोला- बेबुनियाद आरोप लगे
आरोपी डॉक्टर गणेश गोंड का कहना है कि एक महिला कान बहने का इलाज कराने आई थी। उसके कान का पर्दा फटने की बात सुनते ही उसको चक्कर आ गया। चैंबर से निकल कर बेबुनियाद आरोप लगाने लगी।

खबरें और भी हैं...