गोरखपुर में व्यापारी की हत्या:घर से दावत खाने निकला था युवक, सुबह नहर किनारे मिली लाश; सिर और चेहरा कूंचकर की गई हत्या

गोरखपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बृजेश विश्वकर्मा की धारदार हथियार से हत्या। (मृतक की फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
बृजेश विश्वकर्मा की धारदार हथियार से हत्या। (मृतक की फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में सोमवार सुबह एक व्यापारी का शव नहर के किनारे पड़ा मिला। मृतक के चेहरे पर बेरहमी से कूंचने के निशान मिले हैं। सूचना पर पुलिस फॉरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंची। मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। फॉरेंसिक टीम के सबूत जुटाने में लगी रही। आशंका है कि व्यापारी की हत्या कर शव फेंका गया है। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई। फिलहाल हत्या की वजह नहीं पता चल सकी है।

आधार कार्ड से हुई व्यापारी की शिनाख्त, दावत खाने निकला था मृतक
दरअसल, पिपराइच इलाके के पोखर भिंडा आलमीन स्कूल से 100 कदम आगे नहर किनारे व्यापारी का शव मिला। मृतक की जेब से मिले आधार कार्ड से व्यापारी की शिनाख्त बृजेश विश्वकर्मा (35) पुत्र नन्दलाल विश्वकर्मा के रूप में हुई। पुलिस के मुताबिक, मृतक समदार खुर्द भटहट गुलरिहा का निवासी है। उसकी मोबाइल की दुकान है। बीती रात वह घर से करमहा दावत खाने की बात कहकर निकला था। वहीं, मृतक की पत्नी रेनू विश्वकर्मा व तीन साल के बेटे का रो-रोकर बुरा हाल है।

हत्या कर फेंकी गई लाश
मौके पर पहुंची फोरेंसिक टीम सबूत तलाशने में जुटी रही। घटना स्थल से कुछ दूरी पर लगे CCTV की रिकॉर्डिंग भी पुलिस खंगाल रही है। फोरेंसिक टीम ने आंशका जताई है कि व्यापारी की धारदार हथियार से हत्या कर लाश फेंकी गई है। SP नार्थ मनोज अवस्थी ने बताया कि जल्द ही मामले का खुलासा करते हुए अपराधियों को पकड़ लिया जाएगा। मृतक के दोस्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। घटना स्थल से व्यापारी का मोबाइल व स्कूटी गायब है।

मृतक व्यापारी के तीन भाइयों में सबसे छोटा था
मंझले भाई राजेश विश्वकर्मा की कस्बे से सटे अतरौलिया में गोरखपुर-महराजगंज मुख्य मार्ग पर ऑटो पार्ट्स की दुकान है। परिवारजनों का कहना है कि मृतक बृजेश को जब भी समय मिलता था, तो वह भाई की दुकान पर पहुंचकर हाथ बंटाता था। वहीं, सबसे बड़े भाई उमेश बरगदही में एक निजी स्कूल में शिक्षक के रूप में तैनात हैं।

खबरें और भी हैं...