गोरखपुर में सीएम योगी ने लगाया जनता दरबार:फिर सीएम योगी के सामने लगी पुलिस की शिकायतों की भरमार, 500 लोगों ने मुख्यमंत्री से लगाई न्याय की गुहार, ​सीएम ने डीएम सुहास को दी बधाई

गोरखपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिंदु सेवाआश्रम में उन्होंने 150 फरियादियों की समस्याएं सुनी, जबकि यात्री निवास में करीब 350 अन्य फरियादियों ने अपना प्रार्थना पत्र वहां मौजूद अधिकारियों को देकर सीएम से न्याय की गुहार लगाई। - Dainik Bhaskar
हिंदु सेवाआश्रम में उन्होंने 150 फरियादियों की समस्याएं सुनी, जबकि यात्री निवास में करीब 350 अन्य फरियादियों ने अपना प्रार्थना पत्र वहां मौजूद अधिकारियों को देकर सीएम से न्याय की गुहार लगाई।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार की सुबह गोरखनाथ मंदिर में जनता दरबार लगाया। हिंदु सेवाआश्रम में उन्होंने 150 फरियादियों की समस्याएं सुनी, जबकि यात्री निवास में करीब 350 अन्य फरियादियों ने अपना प्रार्थना पत्र वहां मौजूद अधिकारियों को देकर सीएम से न्याय की गुहार लगाई। हिंदु सेवाश्रम में सीएम एक-एक फरियादियों के पास गए और उनकी समस्याओं को गंभीरता से सुना, साथ ही कार्रवाई कर उनकी समस्याओं के जल्द निस्तारण का भी आश्वासन दिया। हर बार की तरह इस बार भी मुख्यमंत्री के सामने अधिकांश जमीनी विवाद और पुलिस से जुड़ी शिकायतों की कतार लगी रही।

पुलिस की शिकायतों की लगी भरमार
चिलुआताल इलाके के सरहरी के रहने वाले मनोज ने सीएम को बताया कि मानबेला की रहने वाल कल्लो खातून से उन्होंने जमीन बैनामा कराया था। आरोप है कि उनकी जमीन पर उन्हीं के पड़ोसी शशि सिंह ने कब्जा कर लिया है। शिकायत करने पर पुलिस ने उन्हें भगा दिया। उन्होंने सीएम से न्याय की गुहार लगाई। इसके साथ ही गोरखनाथ हुमांयुपुर की रहने वाली प्रेमा देवी ने मुख्यमंत्री को बताया कि उनके पति स्व. कैलाश प्रसाद जोकि होमगार्ड थे, की बीते त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में सहजनवा में ड्यूटी लगी थी। ड्यूटी से लौटते वक्त गीडा इलाके में दुर्घटना के दौरान उनकी मौत हो गई। इसके लिए पति के मृत्यु के बाद वे मुआवजे के लिए होमगार्ड दफ्तर के चक्कर लगा रही हैं, लेकिन किसी ने उनकी एक न सुनी। पीपीगंज के ठाकुर प्रसाद वर्मा ने 88 सफाई कर्मचारी ने शिकायत की है कि नगर पंचायत में फर्जी तरीके से सफाई कर्मचारियों को बगैर ड्यूटी के ही भुगतान किया जा रहा है। बीते दिनों एसडीएम के निरीक्षण में 47 कर्मचारी ड्यूटी से गायब भी मिले थे।

ससुराल वाले दे रहे धमकी, भर्ती में हुई हेराफेरी
कैंट इलाके के दाउदपुर की रहने वाली स्मिता ओझा ने सीएम से गुहार लगाई कि उनकी शादी फरवरी 2020 में सिंघड़िया के अविनास त्रिपाठी से हुई थी। शादी के बाद से ससुराल वालों ने उन्हें दहेज के लिए मारपीट कर घर से निकाल दिया। जिसका केस भी चल रहा है। आरोप है कि अब ससुराल के लोग उन्हें रास्ते में रोककर केस वापस लेने के लिए जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। इसके अलावा गुलरिहा सरहरी के रहने वाले राकेश कुमार जायसवाल ने ग्राम पंचायत सहायक में होने वाली भर्ती में हेराफेरी का गंभीर आरोप लगाते हुए सीएम से इस मामले की जांच कराकर कार्रवाई की मांग की। सीएम योगी सभी की समस्याओं को सुनें और वहां मौजूद अधिकारियों को तत्काल कार्रवाई का निर्देश दिए।

सीएम योगी ने गोरक्षनाथ के दरबार में हाजिरी लगाई
इससे पहले मंदिर में आने पर मुख्यमंत्री की दिनचर्या पहले की तरह ही रही। सुबह उन्होंने सबसे पहले नाथ पंथ के आदि गुरु गोरक्षनाथ के दरबार में हाजिरी लगाई और फिर अपने गुरु ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ के समाधि स्थल पर जाकर उनका आशीर्वाद लिया। मंदिर परिसर का भ्रमण करने के क्रम में मुख्यमंत्री हमेशा की तरह गोशाला गए और करीबा आधा घंटा गायों के बीच गुजारा। इस दौरान सीएम ने गायों को चना और गुड़ खिलाया। इसके साथ ही योगी ने अपने स्वॉन कालू और गुल्लू को भी दुलारा।

​पैरालिंपिक में मेडल हासिल करने वाले डीएम को दी बधाई
इसके साथ ही गोरखनाथ मंदिर में योगी आदित्यनाथ ने पैरालिंपिक में सिल्वर मेडल हासिल करने वाले नोएडा के डीएम सुहास एल यथिराज को सीएम योगी ने बधाई दी। कहा कि भारत की टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया है। हम सब के लिए खुशखबरी आई है कि डीएम नोएडा ने पैरालिंपिक में सिल्वर मेडल हासिल की। इसके लिए मैं बधाई देता हूं। यह हम सभी के लिए गर्व की बात है। मुझे खुशी है कि अपने प्रशासनिक दायित्वों का कुशलता पूर्वक निवर्हन करने के साथ ही उन्होंने पैरालिंपिक में बड़ी सफलता हासिल की है। वे पहले भी कई मेडल हासिल कर चुके हैं। आज भारतीय खेल में एक नई उपलब्धी जोड़ी है, मैं इसके लिए उन्हें बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

खबरें और भी हैं...