पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कुशीनगर में टावर आपरेटर ने दी आत्महत्या की धमकी:मानदेय न मिलने से नाराज कर्मचारी ने अधिकारी के सामने टावर पर चढ़कर किया हाईवोल्टेज ड्रामा, दो घंटे बाद आश्वासन मिलने पर नीचे उतरा

कुशीनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अनूप का जुलाई 2018 से मानदेय बकाया है। - Dainik Bhaskar
अनूप का जुलाई 2018 से मानदेय बकाया है।

कुशीनगर में टावर आपरेटर ने मानदेय की मांग को लेकर गुरुवार को जमकर हंगामा किया। उसने बकाया मानदेय न मिलने पर टावर पर चढ़कर जेटीओ(जूनियर टेलीकॉम ऑफिसर) के सामने अपना गुस्सा जाहिर किया और आत्महत्या करने की धमकी दी। लगभग दो घण्टे तक हाईवोल्टेज ड्रामा चलता रहा। काफी देर तक समझाने के बाद भी जब युवक नीचे नहीं उतरा तो जेटीओ द्वारा उसे जल्द बकाया मानदेय दिलाने का आश्वासन दिया गया। उसके बाद वह टावर से नीचे उतरा।

कुबेरस्थान थाने का है मामला
दरअसल ये पूरा मामला कुछ यूं हैं कि कुबेरस्थान थाना क्षेत्र के ग्राम सखवनिया बुजुर्ग टोला लंगडी में बीएसएनएल का टॉवर लगा हुआ है। उस टॉवर पर अनूप जायसवाल निवासी बढवलिया खुर्द निवासी ऑपरेटर और चौकीदार का काम करता है। जुलाई 2018 से उसका मानदेय बकाया है। गुरुवार को दोपहर में बीएसएनल के जेटीओ अवधेश कुमार एक्सचेंज पर आए और चौकीदार अनूप को यह कहते हुए हटाने लगे कि तुम अब यहां नहीं रहोगे और एक्सचेंज में ताला बंद कर दिए।

विभागीय अधिकारी का ये रवैया अनूप जैसवाल को नागवार गुजरा और वह नाराज हो गया। वह टॉवर पर चढ़ गया और कूदने की धमकी देने लगा। ऑपरेटर का कहना था कि अगर मेरा पुराना बकाया नहीं मिला और मुझे हटाया गया तो मैं कूदकर जान दे दूंगा। इतने में काफी ग्रामीण वहां इकट्ठे हो गए। बहुत मनाने के बाद भी युवक नीचे नहीं उतरा। जेटीओ द्वारा यह आश्वासन दिया गया कि तुम्हारा भुगतान शीघ्र करा दिया जाएगा, तब जाकर देर शाम युवक टॉवर से नीचे आया।

2 घंटे बाद अनूप टावर से नीचे उतरा।
2 घंटे बाद अनूप टावर से नीचे उतरा।

आपरेटर का किया गया भुगतान
इस मामले में जेटीओ अवधेश कुमार ने बताया कि बकाया मानदेय के लिए चौकीदार टॉवर पर चढ़ा था। मैंने उच्च अधिकारियों को सूचना दे दी है। कुछ भुगतान कर दिया गया है, शेष बकाया भी जल्द ही दे दिया जाएगा। युवक टॉवर से उतर गया है।

गुरुवार टावर आपरेटर को नौकरी से हटाने पहुचे अधिकारी की मुश्किलें तब बढ़ गयी जब बकाया मानदेय की मांग को लेकर ऑपरेटर टॉवर पर चढ़ गया और कूदकर जान देने की बात करने लगा. लगभग दो घण्टे तक जेटीओ(जूनियर टेलीकॉम ऑफिसर ) के मानाने पर भी जब युवक निचे उतरने को तैयार नही हुआ तो अधिकारी द्वारा जल्द बकाया मानदेय दिलाने के आश्वासन के बाद ऑपरेटर नीचे उतरा.

खबरें और भी हैं...