36 फुटेज देख चोर तक पहुंची गोरखपुर पुलिस:शहर से चोरी हुई थी ट्रैक्टर- ट्राली, फुटेज देख 120 किमी दूर पहुंच गई पुलिस

गोरखपुर3 महीने पहले

गोरखपुर पुलिस ने फिल्मी तरीके से एक वाहन चोरी की घटना का खुलासा कर सबको चौंका दिया। यहां पर रामगढ़ताल एरिया के पॉश इलाके से ईंट से लदी ट्रैक्टर ट्राली चोरी हो गई। चोरी की पूरी घटना CCTV कैमरे में कैद हो गई।

इसके बाद पुलिस 36 जगहों से CCTV फुटेज निकलवाया और चोर के घर तक पहुंचकर पूरी घटना का खुलासा कर दिया। SSP डॉ. गौरव ग्रोवर ने घटना का खुलासा करने वाली रामगढ़ताल थाने की पुलिस टीम को 20 हजार रुपए का नगद ईनाम दिया है।

घटना का खुलासा करते SP सिटी कृष्ण कुमार बिश्नोई।
घटना का खुलासा करते SP सिटी कृष्ण कुमार बिश्नोई।

SP सिटी ने किया खुलासा
गोरखपुर पुलिस लाइन में शुक्रवार को SP सिटी कृष्ण कुमार बिश्नोई ने चोरी की घटना का खुलासा किया। SP सिटी ने बताया, 11, 12 सितंबर की रात 2.20 बजे रामगढ़ताल रोड स्थित पकवान रेस्टोरेंट के सामने से एक ट्रैक्टर ट्राली चोरी हो गई। ट्राली पर ईंट भी लदी हुई थी। गाड़ी मालिक संजय सिंह ने इसकी कम्प्लेन कराई थी। इसके बाद पुलिस ने जांच शुरू किया।

CCTV फुटेज निकलवाई
SP सिटी ने बताया, सबसे पहले पुलिस ने पकवान रेस्टोरेंट का CCTV फुटेज निकलवाया। इससे ये पता चला कि चोर किस दिशा में भागा है। आगे पाम पैराडाइज फिर बचपन स्कूल खोराबार से फुटेज निकलवाई गई।

फुटेज की मदद से ये पता चलता रहा कि वाहन चोर देवरिया की तरफ भागा है। इसी तरह आगे भी पेट्रोल पंप पर CCTV फुटेज निकवाई गई। जिसमे वाहन चोर गाड़ी में तेल भरवाते दिख रहा है। इस तरह कुल 36 CCTV फुटेज उसकी निकलवाई गई।

ऑनलाइन किया था पेमेंट
पेट्रोल पंप पर तेल भरने वाले कर्मचारी ने बताया कि एक व्यक्ति ट्रैक्टर में 250 रुपए का तेल डलवाया। इसके बाद उसने पूछा कि ऑनलाइन पेमेंट हो जाएगा, मेरे हां कहने पर उसने कहीं कॉल की। फिर पेट्रोल पंप के नंबर पर 995 रुपए का पेमेंट आया।

जिसका तेल पेट्रोल पंप कर्मचारी ने डाला। पुलिस टीम ने उस ऑनलाइन पेमेंट करने वाले का नंबर ट्रेस कर उसके घर पहुंची। ऑनलाइन पेमेंट करने वाले प्रमोद चौरसिया के जरिए अभियुक्त का एड्रेस मिला।

मऊ से अरेस्ट हुआ चोर
बताए एड्रेस के आधार पर पुलिस टीम मऊ जिले मधुबन थाना क्षेत्र स्थित चक्की मुसा डीहा गांव पहुंची। वहां पर अभियुक्त के घर पर ट्रैक्टर और ईंट बरामद हुआ। वहां पर लालजी चौहान को पुलिस ने अरेस्ट किया।

लालजी चौहान ने बताया कि उनका बेटा धनंजय चौहान यहां पर गाड़ी लाया है। पुलिस टीम ने जब धनंजय का आपराधिक रिकॉर्ड खंगाला तब पता चला कि वो शातिर चोर है। इससे पहले भी कई वाहन चोरी में शामिल रहा है।

खबरें और भी हैं...