पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बलिया जिला जेल में बवाल:बंदी रक्षकों को घेर कैदियों ने किया पथराव, आंसू गैस के गोले दाग पीएसी-पुलिस ने पाया काबू; एक घंटे तक चले बवाल के बाद जेल को छावनी में बदला

बलिया21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बलिया जिला जेल में कैदियों ने किया जमकर बवाल। - Dainik Bhaskar
बलिया जिला जेल में कैदियों ने किया जमकर बवाल।

उत्तर प्रदेश के बलिया जेल में बुधवार को कैदियों ने जमकर बवाल मचाया। देर शाम कैदियों ने ईंट-पत्थरों से बंदी रक्षकों पर हमला कर दिया। बंदी रक्षकों ने घटना की सूचना जेल प्रशासन को दी। जेल प्रशासन के अधिकारियों ने उनको समझाने का प्रयास किया। कैदियों के पथराव के आगे उनकी एक न चली। मामला बिगड़ता देख जेल प्रशासन ने डीएम और एसपी को सूचना दी। पुलिस के साथ पीएसी बुलानी पड़ी। पुलिस और पीएसी ने जेल में अंदर जाकर आंसू गैस के गोले दागे। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद कैदियों पर काबू पाया जा सका। इसके बाद जेल को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। गेट पर भारी फोर्स तैनात है। कैदियों की पत्थरबाजी में कई बंदी रक्षक घायल हो गए।

मिलान के बाद बंदियों ने किया बवाल

शाम को मिलान के बाद कैदियों और बंदियों को बैरक की ओर जाना था। लेकिन, उन्होंने बैरक में जाने की जगह हंगामा शुरू कर दिया। इसपर जेल प्रशासन ने उनको समझाबुझाकर शांत करा दिया। जेल प्रशासन के अधिकारियों के बैरक से वापस लौटते ही कैदियों ने गोलबंदी कर कुछ बंदी रक्षकों को घेर कर उनपर पथराव शुरू कर दिया। किसी तरह बंदी रक्षक अपनी जान बचाकर भागे। बंदी रक्षकों ने बवाल की सूचना जेल के अधिकारियों को दी। इसके बाद जिला प्रशासन को घटना की सूचना दी।

पीएसी सहित कई थानों की पुलिस ने किया कंट्रोल

सूचना मिलने पर दो गाड़ी पीएसी सहित कई थानों की पुलिस जेल पहुंची। इसके बाद पीएसी जवान और पुलिस ने मोर्चा संभाला। पत्थराव कर रहे कैदियों को काबू करने के लिए फोर्स ने आंसू गैस के गोले दागे। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद कैदियों पर काबू पाया गया।

डीएम ने संभाली कमान

जेल में बवाल की सूचना मिलते ही डीएम अदिति सिंह, पुलिस अधीक्षक डॉ. विपिन ताडा व अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार सहित कई आलाधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। डीएम ने जेल पहुंचकर बड़ी संख्या में फोर्स को तैनात कर दिया। साथ ही लाउड स्पीकर लेकर कैदियों से शांति बनाए रखने की अपील की। जेल अधीक्षक ने बताया कि, शाम को मिलन के समय कुछ कैदियों ने विरोध किया था। तब समझाने पर वो मान गए थे। बाद में कैदियों ने घाट लगाकर बंदी रक्षकों पर पथराव कर दिया। जिसकी सूचना डीएम सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों को दे दी गई थी। अब हालात काबू में हैं।

सख्ती बरतने पर भड़के कैदी

मिलान के समय सख्ती बरतने पर कैदी भड़क उठे। ऐसा पहली बार नहीं है जब कैदियों ने जेल में बवाल किया हो। पहले भी कई बार कैदी बवाल कर चुके हैं। दरअसल, जब भी जेल में नया जेलर आकर सख्ती बरतना शुरू करता है। कैदी किसी न किसी बहाने हंगामा शुरू कर देते हैं। कैदी जेल में पुरानी व्यवस्था को ही आगे भी जारी रखने के लिए ऐसा करते हैं।