पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोरखपुर में महामारी के खिलाफ जंग:छह स्वास्थ्य केंद्रों पर हुआ कोरोना वैक्सीनेशन का ड्राई रन; CMO बने पहले लाभार्थी, बोले- इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं

गोरखपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यह फोटो गोरखपुर की है। यहां कोरोना वैक्‍सीनेशन ड्राई रन के पहले लाभार्थी बने सीएमओ डॉक्टर सुधार पांडेय। - Dainik Bhaskar
यह फोटो गोरखपुर की है। यहां कोरोना वैक्‍सीनेशन ड्राई रन के पहले लाभार्थी बने सीएमओ डॉक्टर सुधार पांडेय।
  • मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर सुधाकर पांडेय ने ड्राई रन की व्यवस्थाओं को परखा
  • कहा- सबकुछ ठीक रहा तो 14 अप्रैल से शुरू हो जाएगा टीकाकरण

कोरोना महामारी से बचाव के लिए उत्तर प्रदेश में 14 जनवरी यानी मकर संक्रांति से टीकाकरण शुरू हो सकता है। इससे पहले मंगलवार को गोरखपुर समेत पूरे UP में ड्राई रन (मॉक ड्रिल) की प्रक्रिया शुरू हुई है। गोरखपुर में ड्राई रन के लिए दो बूथ बनाए गए हैं। यहां कोरोना वैक्सीनेशन के दौरान आने वाली समस्या और असुविधा को परखने के बाद खुद मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर सुधाकर पांडेय ने वैक्सीन लगवाई और उसके बाद कुछ समय प्रतीक्षालय में गुजारा।

CMO बोले- मुझ पर कोई दुष्प्रभाव नहीं

CMO डॉक्टर सुधाकर पांडेय ने पहले लाभार्थी के रूप में बताया कि वे काफी अच्‍छा महसूस कर रहे हैं। उन्‍हें किसी भी प्रकार की कोई समस्या या दुष्प्रभाव नहीं हुआ है। बताया कि ड्राई रन में टीकाकरण को छोड़कर वे सारी गतिविधियां होती हैं, जो टीकाकरण में होती हैं। इसमें लाभार्थी के मोबाइल पर एक मैसेज आएगा कि उसका टीकाकरण होना है। इसके बाद ये सुनिश्चित होने के बाद कि वे व्यक्ति वहीं है। उनका हाथ सैनिटाइज करने के बाद वेटिंग एरिया में बैठाया जाएगा। टीकाकरण के बाद 30 मिनट के लिए प्रतीक्षालय में रखा जाएगा। जिससे ये परखा जा सके कि किसी भी तरह का साइड इफेक्ट तो नहीं हो रहा है।टीकाकरण के दौरान भी इसी तरह से हम लोग व्यवस्था रखेंगे।

गोरखपुर में छह जगहों पर ड्राई रन

गोरखपुर के शहरी क्षेत्र में तीन और ग्रामीण क्षेत्र में तीन यानी कुछ छह जगहों पर वैक्सीनेशन के लिए ड्राई रन की प्रक्रिया को पूरा किया गया। इसमें गोरखपुर के BRD मेडिकल कालेज, जिला महिला अस्पताल, नगरीय स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र शाहपुर, सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र कैंपियरगंज, प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र खोराबार और भटहट पर ड्राई रन किया गया। हर अस्‍पताल पर 25-25 स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों को बुलाया गया है। जिला महिला अस्पताल पर गोरखपुर के मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी (CMO) डॉक्टर सुधाकर पांडेय ने बनाए गए दोनों बूथों का निरीक्षण किया। दोनों बूथों पर चाक-चौबंद व्यवस्था के साथ कोविड प्रोटोकॉल का भी पूरी तरह से ध्‍यान रखा गया है।

आमजनों का होगा पंजीकरण

जिला महिला अस्पताल की प्रमुख अधीक्षिका डॉक्टर माला कुमारी सिन्‍हा ने वैक्सीनेशन के लिए ड्राई रन की प्रक्रिया चल रही है। आम जन को भी वैक्सीन लगवाने के लिए पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा। आधार कार्ड छोड़कर शेष किसी भी फोटो युक्त परिचय पत्र के आधार पर पंजीकरण कराया जा सकता है। वैक्सीन के रख-रखाव की तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है। 41 कोल्ड चेन प्वाइंट बनाए गए हैं। 75 टीकाकरण बूथ बनाए गए हैं। एक बूथ पर 100 लोगों को बुलाया जाएगा। उन्हें समय से 15 मिनट पहले पहुंचना होगा। सभी स्वास्थ्य कर्मियों को समय और तिथि का मैसेज कोविन पोर्टल से भेजा जाएगा।

खबरें और भी हैं...