पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • Villagers Adamant About The Action In The Murder In The Property Dispute Created A Ruckus By Placing The Dead Body At The Gate Of The Police Station, Pelted Stones At The Police On Stopping, Many Policemen Including The SO Injured

पुलिस को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, देखें VIDEO:कुशीनगर में हत्या का विरोध कर रहे ग्रामीणों को पुलिस ने रोका तो डंडों से पीटा, ईंट-पत्थर फेंके; कई पुलिसकर्मी घायल

कुशीनगर3 महीने पहले
कुशीनगर में पुलिस को पीटते ग्रामीण। डीएम और एसपी ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया।

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर के हनुमानगंज इलाके में पुलिस और ग्रामीण आमने-सामने आ गए। यहां बोधीछपरा गांव में रविवार को भूमि विवाद में एक युवक ने चाचा की पीट-पीटकर हत्या कर दी। सोमवार को पोस्टमार्टम के बाद शव आने पर ग्रामीण आक्रोशित हो गए। उनका गुस्सा पुलिस पर फूट पड़ा।

दरअसल, नाराज ग्रामीण शव को थाने के गेट पर ले जाने का प्रयास करने लगे तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया। इस पर ग्रामीण पथराव करने लगे। घटना में एसओ समेत कई पुलिसकर्मियों को चोटें आईं। बाद में डीएम और एसपी ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया।

कभी गांव वाले, तो कभी पुलिस वाले दौड़ाते रहे

सोमवार को जब गांव वालों से पुलिस की भिड़ंत हुई तो कभी गांव वाले पुलिस वालों को दौड़ाते तो कभी पुलिसवाले गांव वालों को दौड़ाते। चूंकि गांव में काफी युवा हैं, तो पुलिस को उन पर काबू पाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। गांव वालों ने पुलिस को करीब आधे किमी तक दौड़ाया। पुलिस जब कमजोर पड़ती तो थाने में घुस जाती थी। जब पर्याप्त संख्या में फोर्स आ गई तब पुलिस ने ग्रामीणों पर काबू पाया।
क्यों हुआ विवाद?
मृतक जयप्रकाश और भतीजे के बीच पैतृक संपत्ति का 20 साल से विवाद चल रहा था। विवाद की जड़ 20 से 25 एकड़ की जमीन थी। हालांकि इससे पहले कभी दोनों पक्षों के बीच मारपीट नहीं हुई है। मृतक जयप्रकाश के परिवार में 25 साल का एक बेटा और 20 वर्षीय बेटी है।
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक जयप्रकाश की उम्र लगभग 50 वर्ष थी। सीधे स्वभाव के थे। जब वह रविवार सुबह ट्यूशन पढ़ा रहे थे तो उनके ऊपर लाठी-डंडों से हमला किया गया। जब तक लोग बचाने को पहुंचते तब तक उन्हें मार दिया था।

हत्या करने में मां ने भी दिया था साथ
बोधीछपरा गांव में भूमि विवाद में जयप्रकाश सिंह की भतीजे और उसकी मां ने पीटकर हत्या कर दी थी। इसके बाद सोमवार को जब शव को हनुमानगंज थाने के गेट पर ले जाने लगे, तो पुलिस ग्रामीणों को रोकने लगी तो गुस्साए ग्रामीण उग्र हो गए।

पुलिस पर किया पथराव
ग्रामीणों ने रेलवे लाइन ट्रैक से गिट्टियां उठाकर पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। पुलिस ने भी ग्रामीणों को भगाने के लिए बल प्रयोग किया। पुलिस व ग्रामीणों के बीच करीब 2 घंटे तक संघर्ष चलता रहा। इसमें एसओ हनुमानगंज पंकज गुप्ता, एसआई संजय कुमार समेत कई पुलिस कर्मी और ग्रामीण भी चोटिल हो गए। खड्डा सर्किल के अन्य थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे एएसपी अयोध्या प्रसाद सिंह, एसडीएम अरविन्द कुमार, तहसीलदार डॉ. एसके राय, सीओ खड्डा शिवाजी सिंह ने ग्रामीणों को किसी तरह शांत कराया।

पांच सूत्रीय मांग पत्र सौंपा

ग्रामीण पांच सूत्रीय मांग पत्र सौंपने के बाद शव का अंतिम संस्कार करने को राजी हुए। बाद में डीएम एसराज लिंगम और एसपी सचिन्द्र पटेल ने भी मौके पर पहुंच ग्रामीणों को कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया व गांव को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

खबरें और भी हैं...