गोरखपुर ग्रामीण से टिकट को लेकर फैली झूठी अफवाह:सोशल मीडिया पर फाइनल कर दिया विपिन सिंह का टिकट, दर्शन को गोरखनाथ मंदिर पहुंचे विधायक; BJP बोली- पार्टी ने नहीं जारी किया टिकट

गोरखपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इस बीच बीजेपी का कहना है कि फिलहाल यह खबर पूरी तरह अफवाह है। पार्टी को ओर से टिकटों की कोई सूची जारी नहीं की गई है। - Dainik Bhaskar
इस बीच बीजेपी का कहना है कि फिलहाल यह खबर पूरी तरह अफवाह है। पार्टी को ओर से टिकटों की कोई सूची जारी नहीं की गई है।

उत्तर प्रदेश के विधान सभा चुनाव में अजब- गजब मामला देखने को मिल रहा है। जब से गोरखपुर की ग्रामीण सीट की डिमांड निषाद पार्टी ने की है। तब से ग्रामीण विधायक अपने क्षेत्र में एक्टिव हो गए हैं। किसी भी हाल में भाजपा विधायक ये सीट खोना नहीं चाहते हैं। वहीं, निषाद बाहुल्य क्षेत्र होने की वजह से डॉक्टर संजय निषाद को अपने बेटे सरवन निषाद के लिए ये सीट सबसे सुरक्षित लग रही है। उन्हें पूरी उम्मीद है कि यहां से उनका बेटा जरुर विधायक बनेगा।

इस मौजूदा विधायक की टिकट पर तलवार लटकती देख उनके समर्थकों ने सोशल मीडिया पर इस सीट से उनका टिकट फाइनल करा दिया। विपिन सिंह को ग्रामीण से प्रत्याशी बनाए जाने की खबर से लेकर उन्हें बधाईयां देने वालों का तांता लग गया। लेकिन इस बीच बीजेपी का कहना है कि फिलहाल यह खबर पूरी तरह अफवाह है। पार्टी को ओर से टिकटों की कोई सूची जारी नहीं की गई है। ऐसे में ​फिलहाल यहां कोई भी टिकट फाइनल नहीं है।

निषाद पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र मणि निषाद का कहना है कि गोरखपुर ग्रामीण सीट को लेकर पार्टी और बीजेपी की बात अंतिम चरण में जारी है।
निषाद पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र मणि निषाद का कहना है कि गोरखपुर ग्रामीण सीट को लेकर पार्टी और बीजेपी की बात अंतिम चरण में जारी है।

निषाद पार्टी को भी मिल रही बधाईयां
वहीं, निषाद पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र मणि निषाद का कहना है कि गोरखपुर ग्रामीण सीट को लेकर पार्टी और बीजेपी की बात अंतिम चरण में जारी है। पूरी उम्मीद है कि गोरखपुर ग्रामीण सीट निषाद पार्टी के ही खाते में आएगी। लोग तो हमारे प्रत्याशी सरवन निषाद को भी बधाईयां और शुभकामनांए दे रहे हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि शीर्ष नेतृत्व ने उनके टिकट की घोषणा कर दी है। यह बात पूरी तरह अफवाह है। ​इस सीट पर अभी किसी का भी टिकट फाइनल नहीं हुआ है।

मंगलवार से ही मिलने से लगी बधाईयां
दरअसल, इस सीट पर निषाद पार्टी की दावेदारी को देखते हुए मंगलवार से ही भाजपा विधायक विपिन सिंह के टिकट फाइनल होने की चर्चा ने जोर भी पकड़ लिया। यही नहीं भाजपा विधायक को टिकट की बधाइयां भी समर्थक अपने–अपने ढंग से देना शुरू कर दिए। जबकि निषाद पार्टी के प्रत्याशी खुद को इस सीट का दावेदार फाइनल मान रहे हैं।

भाजपा के क्षेत्रिय मीडिया प्रभारी बच्चा पांडेय नवीन ने बताया कि ये सब अफवाह है। अभी किसी को टिकट नहीं मिला है। गोरखपुर में 6ठें चरण में चुनाव है, जबकि जहां इससे पहले चुनाव है उन सीटों के टिकटों की सूची अभी जारी नहीं हुई है। लोग कुछ भी दावा करें, लेकिन जब तक पार्टी की ओर से कोई अधिकारिक घोषणा या फिर सूची जारी नहीं होती, तब तक किसी का भी टिकट फाइनल नहीं माना जा सकता।

टिकट कटने का सता रहा खौफ
हालांकि सोशल मीडिया पर उड़ी अफवाहों के बीच बुधवार की शाम भाजपा विधायक विपिन सिंह गुरु गोरक्षनाथ का दर्शन और आशीर्वाद लेने गोरखनाथ मंदिर भी पहुंचे थे। गोरखनाथ मंदिर में भी लोगों ने उन्हें टिकट मिलने की बधाईयां दी। वहीं, निषाद पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र मणि निषादका कहना है कि टिकट कटने के खौफ से इस तरह की अफवाहें फैलाई जा रही हैं। आश्वासन तो हमें भी मिला है, लेकिन पार्टी की ओर घोषणा होने के बाद ही किसी के भी टिकट की पुष्टि होगी।

खबरें और भी हैं...