• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Gorakhpur
  • Why Is The System Running Away From Bhaskar's 10 Questions?, The Neck Of The Police Getting Stuck Due To Changing Statements And Erasing Evidence; Why Only Police..why Not The Officer Responsible?

मनीष हत्याकांड में SSP क्यों झूठ बोल रहे?:होटल में कमरे के फर्श पर लगे खून के धब्बे साफ करवा दिए, वीडियो जारी नहीं कर रहे; 24 घंटे में 3 अलग-अलग बयान दिए

गोरखपुर4 महीने पहले
पुलिस का दावा है कि मनीष की होटल के कमरे में गिरकर चोट लगने से मौत हुई है।

कानपुर के कारोबारी मनीष गुप्ता की मौत मामले में गोरखपुर की रामगढ़ताल थाने के सिर्फ तीन पुलिसकर्मियों को जिम्मेदार माना गया है, जबकि पीड़ित परिवार ने पुलिस को दी एप्लिकेशन में 6 पुलिसकर्मियों के नाम लिखे थे। पुलिस शुरू से ही इस मामले में लीपा पोती की कोशिश कर रही है। सिर्फ इतना ही नहीं, पुलिस के पास होटल चेकिंग का वीडियो है, लेकिन वह इसे जारी नहीं कर रही है।

वहीं, इस मामले में बवाल मचने के बाद भी सीनियर पुलिस अधिकारी कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं हैं। अगर इस पूरे घटनाक्रम पर गौर करें तो ऐसे तमाम सवाल उठ रहे हैं, जो सिर्फ रामगढ़ताल पुलिस को ही नहीं, बल्कि अफसरों को भी कटघरे में खड़े कर रहे हैं। गोरखपुर के SSP डॉ. विपिन टाडा भी बार-बार बयान बदल रहे हैं। SSP के बयान और उन पर उठ रहे सवालों पर एक नजर...।

पहले दिन SSP बोले- हड़बड़ाहट में गिरे मनीष
सोमवार रात यानी घटना वाले दिन SSP डॉ. विपिन टाडा ने वीडियो बयान जारी कर कहा कि होटल में कुछ संदिग्धों के होने की सूचना मिली थी, जिनकी तलाश में पुलिस पहुंची। पुलिस को देखकर हड़बड़ाहट में मनीष होटल के कमरे में गिर गया। गिरने के दौरान चोट लगने से उसकी मौत हो गई।

बयान पर उठ रहे सवाल...

1. पुलिस की ओर से होटल की चेकिंग करने के दौरान वीडियो बनाया गया था। इस वीडियो को क्यों जारी नहीं किया गया?

2. होटल के 512 नंबर कमरे में ही संदिग्धों के होने की सटीक सूचना पुलिस को कैसे मिल गई? यह सूचना किसने दी? यह भी नहीं बताया जा रहा।

3. आधी रात 12.30 बजे चेकिंग पर उठे सवाल पर SSP ने कहा- संदिग्धों की सूचना पर, यानी विशेष परिस्थिति में चेकिंग की गई। फिर पुलिस कप्तान को यह भी पता होगा कि चेकिंग के दौरान कितने और कौन- कौन पुलिसकर्मी थे। इसके बाद भी उन्हें नामजद क्यों नहीं किया गया?

SSP डॉ. विपिन टाडा के बयानों पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं।
SSP डॉ. विपिन टाडा के बयानों पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

दूसरे दिन SSP का बयान- 6 पुलिसकर्मी सस्पेंड
मंगलवार की दोपहर SSP ने दूसरा वीडियो बना कर बयान जारी किया कि युवक की मौत मामले में 6 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है। SP नॉर्थ को मामले की जांच सौंपी गई है। जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इस बयान पर उठे सवाल...

1. जब मनीष की मौत महज एक हादसा ही थी तो फिर एक साथ 6 पुलिसकर्मियों को किस आधार पर और क्यों सस्पेंड कर दिया?

2. परिवार कार्रवाई की मांग कर रहा था तो पुलिस ने हादसे का सबूत, यानी की होटल के CCTV फुटेज क्यों नहीं दिए?

3. घटना के तत्काल बाद होटल के कमरे से मनीष का मोबाइल, पर्स गायब हो गया। फर्श पर लगे खून के धब्बे को क्यों आनन-फानन में साफ कराया गया। बिना किसी फॉरेंसिक जांच के होटल के कमरे से छेड़छाड़ क्यों की गई?

4. हत्या का केस दर्ज करने के लिए मुख्यमंत्री को क्यों हस्तक्षेप करना पड़ा?

SSP का तीसरा बयान- 3 पुलिसकर्मियों के खिलाफ FIR
SSP ने मंगलवार की देर रात तीसरा बयान जारी किया। इसमें कहा कि मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर तीन पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज ​कर लिया गया है। पीड़ित परिवार को मुख्यमंत्री की ओर से 10 लाख रुपए अनुकंपा राशि की मदद दी जाएगी।

बयान पर सवाल...

1. छोटी- छोटी छिनैती और स्नैचिंग जैसी वारदातों में मौके पर पहुंचने वाले अधिकारी इतने हाई प्रोफाइल मामले के बाद भी मौके पर क्यों नहीं पहुंचे?

2. आखिर ऐसी क्या वजह है कि जिसके लिए जिला प्रशासन से लेकर सरकार तक की भद्द पिटने के बाद भी विभाग आरोपी पुलिसकर्मियों को बचाने में लगा है? उनकी गिरफ्तारी नहीं हो रही है?

पुलिस चेकिंग के दौरान हुई थी घटना
मनीष कानपुर के रहने वाले थे। वे नोएडा में रहने वाले अपने दो दोस्तों के साथ बिजनेस के सिलसिले में गोरखपुर गए थे। वहां रामगढ़ताल इलाके के होटल कृष्णा पैलेस में ठहरे थे। आरोप है कि सोमवार की रात 12 बजे पुलिस की टीम होटल में चेकिंग करने पहुंच गई। चेकिंग के दौरान मनीष के दो दोस्त जग रहे थे उन्होंने पुलिस को ID कार्ड दिखा दिया, जबकि मनीष सो रहे थे।

दोस्तों ने उनको उठाया तो मनीष ने पुलिस से कहा कि यह चेकिंग का क्या तरीका है? क्या हम लोग आतंकवादी हैं? आरोप है कि इसी बात पर इंस्पेक्टर रामगढ़ताल और उनकी टीम बिफर गई। उन्होंने होटल में मनीष के साथ मारपीट की। इसमें मौके पर ही मनीष की मौत हो गई।

खबरें और भी हैं...