दिवाली पर गोरखपुर पहुंचे CM योगी:वनटांगियों संग मनाई दिवाली; बोले- 2017 के बाद से विकास की नई गाथा लिखी गई

गोरखपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीएम योगी ने गोरखपुर के वनटांगिया गांव में वनवासियों के साथ दिवाली मनाई। उन्होंने गुरुवार को कहा कि शासन की जो योजनाएं पहले यहां सपना थीं, अब आसानी से हर पात्र तक उपलब्ध हैं। आजादी के बाद भी 70 साल तक वनटांगिया गांवों में कोई बुनियादी सुविधा तो दूर वोटिंग का अधिकार तक नहीं था, वहां 2017 के बाद से विकास की नई गाथा लिखी गई है। अब यहां हर व्यक्ति के पास अपना पक्का मकान, शौचालय, बिजली, रसोई गैस, पीने को शुद्ध पानी समेत सरकार की सभी जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ ले रहा है।

इस रामराज्य की अवधारणा वनटांगिया गांव में साकार हुई है। यहां सीएम ने 3.27 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण भी किया। साथ ही उन्होंने गोरखपुर-महराजगंज के वनटांगिया गांवों में रहने वाले वरिष्ठ नागरिकों को सम्मानित कर उपहार दिए।

मुख्यमंत्री ने वनटांगिया परिवारों को मिले विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं के लाभ का भी विस्तार से उल्लेख किया। उन्होंने बताया कि अब तक 874 को आयुष्मान कार्ड, 132 को किसान सम्मान निधि, 14 को मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना और 833 को मुख्यमंत्री आवास योजना का लाभ मिल चुका है। 43 समूहों में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के कार्य हो रहे हैं। 916 को व्यक्तिगत शौचालय, 758 को उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस कनेक्शन और 33 को दिव्यांग पेंशन का लाभ मिला है।

सीएम ने और क्या कहा?

  • बच्चों को खूब पढ़ाइए, उनके लिए हर तरह की व्यवस्था।
  • सरकार स्नातक और परा-स्नातक में पढ़ने वाले युवाओं को मुफ्त टैबलेट या स्मार्ट फोन देने जा रही।
  • यूपी में डीजल-पेट्रोल की कीमतों में 12 रुपए की कमी।
  • प्रधानमंत्री ने एक्साइज ड्यूटी कम कर दी।
  • आजादी मिलने के बाद भी किसी ने उपेक्षित वनटांगिया समुदाय की सुध नहीं ली थी।
  • लोगों के पास आवास, बिजली, सड़क, पानी, खेती के लिए जमीन जैसी सुविधाएं नहीं थीं।
  • हमने वनटांगिया गांवों को राजस्व गांव घोषित कर शासन की सभी योजनाओं व सुविधाओं का लाभ दिलाया।
  • आज यहां हर एक परिवार के पास अपना पक्का आवास, शौचालय, खेती के लिए जमीन का पट्टा है।
  • अब इन लोगों को वन विभाग या पुलिस के शोषण का शिकार नहीं होना पड़ेगा।

जंगल की सुरक्षा जरूर करना

योगी ने कहा कि इसके बाद दिसंबर से लेकर मार्च तक की व्यवस्था राज्य सरकार करने जा रही।
योगी ने कहा कि इसके बाद दिसंबर से लेकर मार्च तक की व्यवस्था राज्य सरकार करने जा रही।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने संबोधन के दौरान वनटांगियों से अपील की कि वे जंगल की सुरक्षा जरूर करेंगे। जंगल को ना तो खुद नुकसान पहुंचाएंगे और ना ही किसी को नुकसान पहुंचाने देंगे। उन्होंने कहा कि वन सुरक्षा से है, पहचान बनेगी और जंगल बचे रहेंगे तो समृद्धि आएगी जिसका लाभ वनटांगिया लोगों को भी मिलेगा।

स्टालों का किया अवलोकन अन्नप्राशन व गोदभराई कराई

सीएम ने दो महिलाओं की गोदभराई कराकर उन्हें उपहार प्रदान किए
सीएम ने दो महिलाओं की गोदभराई कराकर उन्हें उपहार प्रदान किए

जंगल तिकोनिया नंबर तीन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंचीय कार्यक्रम के बाद यहां विभिन्न विभागों की तरफ से स्टालों के माध्यम से लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया। प्रदर्शनी के जरिये लोगों को सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी जा रही थी। उन्होंने कुछ स्टालों पर रुककर वहां मौजूद लोगों से जानकारी भी ली। इस दौरान उन्होंने तीन बच्चों का अन्नप्राशन कराया और उन्हें दुलारा। सीएम ने दो महिलाओं की गोद भराई कराकर उन्हें उपहार प्रदान किए।

दीपोत्सव का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री ने इस दौरान गांव में स्थित हिन्दू विद्यापीठ के बच्चों को मिठाई व अन्य उपहार दिए।
मुख्यमंत्री ने इस दौरान गांव में स्थित हिन्दू विद्यापीठ के बच्चों को मिठाई व अन्य उपहार दिए।

स्टालों का अवलोकन करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गांव के भ्रमण पर निकले। वह सबसे पहले वनटांगिया समाज के मुखिया राम गणेश के घर पहुंचे। घर के बाहर सजाई रंगोली के बीच दीप प्रज्ज्वलित कर समूचे गांववासियों के लिए दीपोत्सव का शुभारंभ किया। सीएम कुछ देर राम गणेश के घर में भी बैठे और सबका कुशलक्षेम जाना।

इसके बाद गांव का भ्रमण करते हुए लोगों से मिले और उनका अभिवादन स्वीकार कर उनसे संवाद भी किया। कई बच्चों संग उन्होंने ठिठोली भी की। मुख्यमंत्री ने इस दौरान गांव में स्थित हिन्दू विद्यापीठ के बच्चों को मिठाई व अन्य उपहार दिए। विद्यापीठ में बच्चों के बैठने के लिए फर्नीचर की व्यवस्था देख वह खुश नजर आए।

खबरें और भी हैं...