मौदहा के मदरसा के 94 विद्यार्थियों ने परीक्षा छोड़ी:234 छात्र-छात्राओं में 140 ने परीक्षा दी, सेक्टर मजिस्ट्रेट रहे तैनात

मौदहा, हमीरपुर9 दिन पहले

उत्तर प्रदेश मदरसा बोर्ड की परीक्षा शनिवार को कस्बे के राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में शुरू हुई। जिसमें 140 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल रहे। 94 विद्यार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। सीसीटीवी निगरानी में परीक्षा हो रही है। केंद्र व्यवस्थापक के साथ ही सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। डीएमओ ने पहली पाली में परीक्षा केंद्र का निरीक्षण किया।

उत्तर प्रदेश मदरसा बोर्ड की परीक्षाओं के लिए कस्बे के राजकीय बालिका इंटर कॉलेज को परीक्षा केंद्र बनाया गया है। कस्बे के मदरसे रहमानिया अनवारुल उलूम, मदरसा यादगार मोहम्मदी हुसैनी, मदरसा यादगार मोहम्मदी हुसैनी गर्ल्स, मदरसा नूरे निजामी मदरसा और स्कूल निजमी दारुल उलूम रागौल, मदरसा कहकशां गर्ल्स इंटर कॉलेज और मदरसा दारुल उलूम के परीक्षार्थियों का परीक्षा केंद्र बनाया गया है।

पहली पाली में मुंशी और मौलवी के कुल संस्थागत और व्यक्ति गत पंजीकृत परीक्षार्थियों की संख्या 234 रही। जिनमें से 140 परीक्षार्थियों ने ही परीक्षा केंद्र में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। 94 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। शाम की पाली में आलिम (समकक्ष इंटर), कामिल (समकक्ष स्नातक) और फाजिल (समकक्ष परास्नातक) की परीक्षा हुई।

सुबह की पाली में डीएमओ अभय कुमार सागर ने परीक्षा केंद्र का दौरा किया। परीक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने बताया कि आधुनिक युग में सभी का रुझान रोजगार परक व्यवसायिक शिक्षा की ओर आकर्षित हो रहा है, जिसके चलते परीक्षार्थियों की संख्या में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। मदरसा बोर्ड भी अब कम्प्यूटर सहित अन्य व्यावसायिक पाठ्यक्रमों को लागू करने पर विचार कर रहा है। जल्द ही मदरसों में भी आधुनिक शिक्षा दी जाएगी। साथ ही बताया कि मदरसा शिक्षा में लोगों के लिए स्कोप कम है, इसलिए लोग अपने बच्चों को मदरसों में नहीं पढाना चाहते हैं। यह कारण भी छात्र संख्या गिरने की वजह हो सकती है।

खबरें और भी हैं...