11 साल के बच्चे का शव 5 टुकड़ों में मिला:हमीरपुर में 2 दिन से लापता था बच्चा, घर से 1 किमी दूर मिला शव; एक दिन पहले दर्ज हुई थी गुमशुदगी की रिपोर्ट

हमीरपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बसंतनगर का रहने वाला कमरुद्दीन का बेटा सुब्बी बीते दो दिनों से घर लापता था। - Dainik Bhaskar
बसंतनगर का रहने वाला कमरुद्दीन का बेटा सुब्बी बीते दो दिनों से घर लापता था।

हमीरपुर में आज एक नाबालिग 11 साल के बच्चे का शव 5 टुकड़ों में बरामद हुआ है। जिससे इलाके में सनसनी है। सूचना पर पुलिस महकमे के आला अधिकारी फील्ड यूनिट सहित घटना स्थल पर पहुंचे हुए हैं। परिजनों के अनुसार वह एक दिन पहले ही गुमशुदगी दर्ज करा चुके हैं लेकिन पुलिस ने कार्यवाही नहीं की। जिसकी वजह से आज बच्चे की हत्या कर दी गई।

2 दिन से लापता था बच्चा

मामला हमीरपुर के सुमेरपुर थाना क्षेत्र का है। यहां बसंतनगर का रहने वाला कमरुद्दीन का बेटा सुब्बी बीते दो दिनों से घर लापता था। जिसको परिजन इधर उधर ढूंढ रहे थे लेकिन जब वह नहीं मिला तो मंगलवार को पुलिस में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। बुधवार सुबह घर से एक किमी दूर कांशीराम कालोनी के पास राहगीरों ने सड़क किनारे एक क्षत विक्षत शव देखा तो हल्ला मच गया। परिजनों को सूचना हुई तो मौके पर पहुंचे।

5 टुकड़ों में काटी गयी थी लाश

सड़क किनारे मिले मासूम की लाश के हत्यारों ने 5 टुकड़े करके फेंके थे। परिजनों ने कपड़ों से अपने बेटे की पहचान की। सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई। राहगीरों का कहना है कि शव की शव के पैर अलग थे, धड़ अलग और सिर अलग था। शव की हड्डियां भी दिख रही थी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक सुब्बी के बड़े भाई जुम्मन ने बताया कि बीते दिन ही गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। लेकिन पुलिस ने मदद नहीं की। अब उसके भाई की हत्या की गई है।

दो लोगों पर जताया था शक, पुलिस ने पकड़ा ही नहीं

सुब्बी बीते 30 अगस्त की सुबह 11 बजे से गुम था। परिजनों ने सारा दिन खोजबीन की, लेकिन वह कहीं नहीं मिला। मंगलवार को गुमशुदगी की सूचना देने के साथ ही बसंत नगर निवासी माइकल वर्मा और सूरज खंगार के ऊपर बालक को गायब करने का शक जाहिर किया था। उस वक्त दोनों युवक भी लापता चल रहे थे। लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाई नहीं की। मृतक के पिता कमरुद्दीन का कहना है कि कल ही पुलिस को तहरीर देकर दो युवकों पर आरोप लगाया था, लेकिन कल सारा दिन पुलिस ने आरोपियों की धरपकड़ का कोई प्रयास नहीं किया।

पिता की दुश्मनी का शिकार तो नहीं हुआ मासूम

मृतक के भाई जुम्मन ने बताया कि हम लोग काफी गरीब हैं। छोटी सी दूकान और मजदूरी करके पेट का परिवार चला रहे हैं। जबकि हमारी किसी से दुश्मनी भी नहीं है। जबकि पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक मृतक के पिता कमरुद्दीन हिस्ट्रीशीटर है। इस वजह से हो सकता है उसकी किसी से दुश्मनी भी हो। वहीं शव भी घर के आसपास ही मिला है। ऐसे में हो सकता है कि हत्यारा कहीं आसपास का ही रहने वाला है। जिसने पहले बच्चे को अगवा किया फिर मौका देख हत्या कर दी।

अपर पुलिस अधीक्षक अनूप कुमार कुमार का कहना है की गुमशुदगी की सूचना दी गई थी। आज बच्चे का शव छत विछत हालत में मिला है। जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...