हमीरपुर में किसानों ने NH-34 को किया जाम:खाद वितरण केंद्र संचालक पर लगाया घोटाला करने का आरोप, SDM ने दिए जांच के आदेश

हमीरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने किसानों को हाइवे से हटाया। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने किसानों को हाइवे से हटाया।

हमीरपुर में किसानों ने खाद की मांग को लेकर नेशनल हाइवे पर जाम लगते हुए खाद वितरण केंद्र संचालक पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। जाम लगाने वाले किसानों का कहना है की महंगाई के इस दौर में दूर दराज के इलाकों से किसान भाड़ा लगा कर खाद लेने के लिए आते हैं, और सुबह से लाइन में लग जाते हैं।

शाम होने पर कुछ लोगों का नंबर आता है और कुछ को खाली हाथ लौटना पड़ता है। इसी बात का ज्ञापन कुछ किसानों ने एसडीएम को सौंपा है। मामले में एसडीएम राजेश चौरसिया का कहना है की जांच कराई जाएगी। मंगलवार से सुचारू रूप से खाद वितरण का काम चलता रहेगा।

हर जगह खाद देने के नाम पर हो रहा है घोटाला

किसानों द्वारा नेशनल हाइवे को जाम करने का यह मामला मौदहा कोतवाली स्थित बड़े चौराहे का है। यहां लगातार खाद के लिए परेशान किसानों ने सोमवार को नेशनल हाइवे-34 पर जाम लगा कर हंगामा किया है। आरोप है कि खाद के जितने भी वितरण केंद्र हैं, चाहे वह क्रय विक्रय समितियां हों या फिर पीसीएफ खाद वितरण केंद्र, हर जगह खाद देने के नाम पर घोटाला किया जा रहा है।

पुलिस ने किसानों को नेशनल हाइवे से भगाया

केंद्रों पर खाद की कालाबाजारी हो रही है। बेमौसम हुई बारिश की वजह से फसल वैसे ही लेट हो चुकी है। ऐसे में अगर समय रहते खाद नहीं मिली तो फसल खराब हो जाएगी। साल भर में पैदा होने वाली फसल से भी किसानों को हाथ धोना पड़ेगा. किसानों द्वारा नेशनल हाइवे जाम करने की सूचना मिलते ही मौदहा कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने किसानों को खदेड़ कर नेशनल हाइवे को खाली करा दिया है।

खबरें और भी हैं...