लंपी वायरस से बचाव को तेज हुआ टीकाकरण:हमीरपुर को मिली 25 हजार वैक्सीन की डोज, 14900 पशुओं को लगाई गई डोज

हमीरपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हमीरपुर में लंपी वायरस से गोवंशीय पशुओं के बचाव को लेकर टीकाकरण तेज हो गया है। हालांकि जनपद में अभी इस संक्रामक बीमारी का एक भी मामला सामने नहीं आया है। मवेशियों को बीमारी से सुरक्षित रखने को लेकर वैक्सीन के 25 हजार डोज मिले हैं। पशुपालन विभाग ने अभियान चलाकर गो आश्रय स्थलों में 14900 गोवंशीय मवेशियों को टीके लगा दिए हैं।

पशुपालन विभाग गोवंशीय मवेशियों को लंपी वायरस से बचाव को लेकर एहतियातन टीके लगा रहा है। प्रभारी मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ.देवेंद्र सिंह ने बताया कि लंपी वायरस से पशुओं के बचाव को लेकर 25 हजार वैक्सीन के डोज मिले हैं। 28 टीमें टीकाकरण में लगाई गई हैं। 13 सितंबर से निरंतर टीक लग रहेहैं। अब तक 14900 पशुओं को टीके लगाए जा चुके है। सभी पशु चिकित्सा अधिकारी अलर्ट है। हालांकि जनपद में अभी कहीं भी किसी मवेशी के इस बीमारी से ग्रसित होने या मरने की कोई खबर नहीं है।

गाय को टीका लगाते हुए चिकित्सक।
गाय को टीका लगाते हुए चिकित्सक।

लंपी वायरस के लक्षण

लंपी वायरस से संक्रमित पशुओं को संक्रमण के बाद तेज बुखार बना रहता है।

दूध की मात्रा में अत्यधिक कमी आती है।

पशुओं की त्वचा पर चकत्ते और गांठे बन जाती हैं।

भूख कम लगना।

पशु के पैरों में सूजन और लंगड़ापन आना।

नर पशु में कार्य करने की क्षमता कम होना।

पशुओं के वजन में कमी आती है।

लार बहना और आंख-नाक से पानी आना भी इसके मुख्य लक्षणों में से एक है।

इसके अतिरिक्त अलग-अलग पशुओं में अलग-अलग लक्षण भी देखने को मिल सकते हैं।

लंपी वायरस से ऐसे करें बचाव

यदि कोई पशु संक्रमित हो जाए तो उसे अन्य पशुओं से दूर/ अलग रखें।

पशुओं के स्थान को नियमित साफ़ सुथरा रखने का प्रयास करें।

मक्खी मच्छर आदि को खत्म करने के लिए समय समय पर स्प्रे या ऐसे ही किसी अन्य कोई घरेलु उपायों का प्रयोग करें।

यदि किसी संक्रमित पशु की मृत्यु हो जाये तो आप उसके शव को खुले में ना डालें बल्कि उसे गहरे में दफना दें। जिससे संक्रमण का खतरा न रहे।

समय-समय पर आस-पास के क्षेत्रों में कीटनाशक दवाइयों का छिड़काव करें।

चिकित्सक के निर्देश पर आप अपने संक्रमित पशुओं को गोटपॉक्स वैक्सीन लगवा सकते हैं।

पशुओं को मल्टी विटामिन की दवाइयां भी दी जा सकती हैं (चिकित्सक के परामर्श के साथ) जिससे कि उनकी इम्युनिटी बढ़ सके।

खबरें और भी हैं...