हमीरपुर में 99 प्रतिशत बच्चों ने पी पोलियो की खुराक:खराब मौसम में भी लगी रहीं स्वास्थ्य विभाग टीमें, रविवार से निकलेंगी बी टीमें

हमीरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हमीरपुर में भीषण बारिश के बीच स्वास्थ्य टीमों ने घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई। - Dainik Bhaskar
हमीरपुर में भीषण बारिश के बीच स्वास्थ्य टीमों ने घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई।

हमीरपुर में नौनिहालों को अपगंता से बचाने के लिए शुरू हुए पल्स पोलियो अभियान में इस बार स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने बिगड़े मौसम का सामना करते हुए छह दिनों में 98.84 प्रतिशत बच्चों को दो बूंद जिंदगी की पिलाने में सफलता पाई है। दवा पीने से वंचित बच्चों के लिए रविवार से बी टीमें निकलेंगी।

गोहांड ब्लाक ने सर्वाधिक 110.51 प्रतिशत बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई। करीब दस दिनों से मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ है। भीषण बारिश की वजह से शहरी और कस्बाई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हैं और घर गिर रहे हैं। सैकड़ों की संख्या में परिवार बेघरी जैसे हालातों से जूझ रहे हैं। इन विपरीत परिस्थितियों के बीच 18 सितंबर से पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत हुई।

हमीरपुर में भीषण बारिश के बीच स्वास्थ्य टीमों ने घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई।
हमीरपुर में भीषण बारिश के बीच स्वास्थ्य टीमों ने घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई।

598 बूथों में पिलाई गई थी खुराक
पहले दिन बच्चों को 598 बूथों में पोलियो की खुराक पिलाई गई। इसके बाद पांच दिनों तक टीमों ने घर-घर जाकर दवा पीने से वंचित बच्चों को दो बूंद जिंदगी की पिलाई। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एके रावत ने बताया कि इस बार 1.42 लाख बच्चों को दवा पिलाने का लक्ष्य रखा गया था। बूथ दिवस में 54.61 प्रतिशत बच्चों को पोलियो की खुराक दी गई थी।

हमीरपुर में भीषण बारिश के बीच स्वास्थ्य टीमों ने घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई।
हमीरपुर में भीषण बारिश के बीच स्वास्थ्य टीमों ने घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई।

पांच दिन तक छूटे बच्चों को पिलाई खुराक
इसके बाद पांच दिनों तक टीमों ने घर-घर जाकर छूटे हुए बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई। 23 सितंबर तक 1.40 लाख बच्चों को दवा पिलाई गई जो कि लक्ष्य का 98.84 प्रतिशत है। यह उपलब्धि तब हासिल की गई है जब कई दिनों से जारी बारिश की वजह से जनजीवन अस्त-व्यस्त है। विभागीय टीमों ने विपरीत परिस्थितियों में यह कार्य किया है।

गोहांड में सबसे ज्यादा बच्चों ने पी खुराक
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. महेशचंद्रा ने बताया कि गोहांड ब्लाक में सर्वाधिक 110.61 प्रतिशत बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई गई है। इसके बाद हमीरपुर नगर में 107.01 प्रतिशत, सरीला में 104.54 प्रतिशत, सुमेरपुर में 103.25 प्रतिशत, मुस्करा में 103.81 प्रतिशत, नौरंगा में 98.39 प्रतिशत, राठ में 95.01 प्रतिशत, मौदहा में 91.38 प्रतिशत और कुरारा में सबसे कम 87.61 प्रतिशत बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई गई। रविवार से 298 बी टीमें 12307 घरों में दस्तक देने निकलेंगी और जो बच्चे दवा पीने से वंचित रह गए हैं, उन्हें दवा पिलाएंगी।

खबरें और भी हैं...