हमीरपुर में भाकियू ने कलेक्ट्रेट में दिया धरना:डीएम को दिया ज्ञापन, फसलों का मुआवजा न मिलने पर विधानसभा घेराव की कही बात

हमीरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हमीरपुर में कलक्ट्रेट में किसानों ने धरना दिया। - Dainik Bhaskar
हमीरपुर में कलक्ट्रेट में किसानों ने धरना दिया।

हमीरपुर में आज भारतीय किसान यूनियन ने कलेक्ट्रेट के गोल चबूतरे पर धरना देते हुए जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा है और बाढ़ सहित अतिवृष्टि से खराब हुई फसलों का मुआवजा मांगा है। किसानों ने कर्ज माफी सहित सहित बिजली बिलों के बकाया भुगतान के एवज में परेशान न किये जाने की भी मांग की है।

भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले कलेक्ट्रेट गोल चबूतरे पर धरने में बैठे किसानों के सामने हर साल की तरह इस साल भी दैवीय आपदा ने परेशानी खड़ी की हुई है। इस साल खरीफ की फसल की बुवाई के समय पानी नहीं बरसा तो बड़ी तादाद में किसान फसल नहीं बो सके। इस दौरान नदी के किनारे वाले इलाकों या जिन किसानों के पास सिंचाई का बंदोबस्त था, उन्होंने फसल बो ली थी, लेकिन बाढ़ और मूसलाधार बारिश की वजह से वह फसल भी नष्ट हो गई।

हमीरपुर में कलक्ट्रेट में किसानों ने धरना दिया।
हमीरपुर में कलक्ट्रेट में किसानों ने धरना दिया।

खरीफ की फसल हुई नष्ट
इसके बाद किसानों के हांथ खाली है। अभी फिलहाल यह हालात है कि हाल ही में हुई बारिश की वजह से अभी भी बड़ी तादाद में खेतों में पानी भरा हुआ है, जिसकी वजह से रवि की फसल की बोआई भी लेट हो रही है। ऐसे में बुवाई लेट होने से पैदावार में गिरावट आने के आसार हैं। धरने पर बैठे भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष ने कहा कि खरीफ की फसल पूरी तरह से नष्ट हो चुकी है।

किसानों को परेशान कर रहे बैंक
किसान खाली हाथ हैं, लेकिन बैंकों का कर्ज होने की वजह से बैंक किसानों को परेशान कर रही है। इसके साथ ही बिजली का बिल बकाया होने की स्थित में कनेक्शन काटे जा रहे हैं, ऐसे में आने वाले समय में किसानों को परेशानी होगी। वहीं सरकार ने ट्रैक्टरों में सवारी न बैठाने का फरमान जारी किया है, अगर किसान ट्रैक्टर में बैठकर खेत जाता है तो उसे पकड़ लिया जाता है और जुर्माना लगाया जाता है, जिससे किसान परेशान हैं। ऐसे में भारतीय किसान यूनियन ने 26 नवम्बर को विधानसभा का घेराव करने का मन बनाया हुआ है।

खबरें और भी हैं...