हमीरपुर कलेक्ट्रेट में शव रख कर धरना:पुलिस ने समझाकर भेजा घर, खूनी संघर्ष में घायल शख्स की मौत से गुस्साए थे परिजन

हमीरपुर11 दिन पहले

हमीरपुर में चार दिन पहले ज़मीनी विवाद को लेकर दो पक्षों में मारपीट हुई थी। जिसका वीडियो सामने आया था। मारपीट के दौरान आठ लोग घायल हुए, जिसमें से एक शख्स की बुधवार को इलाज के दौरान मौत हो गई। जिससे परिजन उत्तेजित हो गए और शव को कलेक्ट्रेट में रख कर हंगामा किया। पुलिस ने समझा बुझाकर उन्हें घर भेज दिया। जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी की बात कही।

मामला सुमेरपुर थाना क्षेत्र में इमिलिया मोहल्ले का था। यहां 21 जनवरी को दो पक्षों में जमकर लाठी--डंडे और कुल्हाड़ी चली थी। इस खुनी संघर्ष के दौरान आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हुए थे, जिसमें से एक 57 साल के चंद्रप्रकाश कुशवाहा को गंभीर हालत में कानपुर रेफर किया गया था। जिसने बुधवार को दम तोड़ दिया। परिजन शव लेकर सीधे कलेक्ट्रेट पहुंच गए। गोल चबूतरे पर धरना देकर बैठ गए।

हमीरपुर में घटना की जानकारी देते परिजन।
हमीरपुर में घटना की जानकारी देते परिजन।

मृतक के बेटे का कहना है की जिस ज़मीन पर वह काबिज़ हैं उस पर ब्रम्हनारायण तिवारी कब्ज़ा करना चाहता है। ब्रम्हनारायण ने अपने परिवारीजनों के साथ 21 जनवरी को उन पर लाठी डंडों और कुल्हाड़ी से हमला किया, जिसमें उनके पिता चंद्रप्रकाश के सिर पर चोट आई थी। जिनकी इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस मामले में हमारी मदद नहीं कर रही है।

कलक्ट्रेट में शव रख कर धरना देने की सूचना पर सदर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। कार्रवाई का आश्वासन देते हुए परिजनों को शव के साथ सुमेरपुर भेज दिया। सीओ सदर राजेश कमल का कहना है की दोनों पक्षों की तरफ से मुकदमा दर्ज किया जा चुका है। दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। मामले की जांच चल रही है। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...