मैनेजर और स्टाफ पर 37 लाख फ्रॉड का आरोप:पीड़ित बोला- फर्जी दस्तखत कर निकाले रुपये, शिकायत करने पर पुलिस ने बनाया सुलह का दबाव

हमीरपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हमीरपुर में एक शख्स ने बैंक स्टाफ पर धोखाधड़ी कर उसके खाते से साथ 37.10 लाख रुपये निकालने का आरोप लगाया है। पीड़ित का कहना की बैंक मैनेजर और कर्मी दो-दो, चार-चार लाख उसके खाते से निकलते रहे। जिसकी जानकारी उसे मई में हुई। जिसके बाद उसने मैनेजर से शिकायत की थी, लेकिन जब सुनवाई नहीं हुई तो वह थाने गया, लेकिन वहां भी सुनवाई नहीं हुई। जिससे परेशान होकर वह हमीरपुर एसपी के यहां पहुंचा।

धोखाधड़ी का शिकार हुए अमर सिंह सुमेरपुर थाना क्षेत्र का रहने वाला है। उसने इंडियन बैंक की शाखा में अपनी पत्नी साध्वी सिंह और अपने नाम से खाता खुलवाया था। जिसमें उसका पूरा पैसा पड़ा हुआ था। उसका आरोप है कि बैंक मैनेजर सहित कर्मचारियों ने फर्जी तरीके से उसके दस्तखत करते हुए उसके खाते से 37.10 लाख रुपये निकाल लिए गए।

पुलिस ने नहीं दर्ज की एफआईआर
इसकी जानकारी होने पर उसने बैंक मैनेजर को लिखित शिकायत की। जिस पर बैंक मैनेजर ने उसका पैसा वापस दिलाने की बात कहते हुए मामले को टालना चाहा, लेकिन जब वह सुमेरपुर थाना पुलिस से इसकी शिकायत करने गया तो पुलिस ने उस पर सुलह करने का दबाव बनाया। और एफआईआर नहीं दर्ज की।

एसपी ने साइबर सेल को सौंपी जांच
अमर सिंह ने बताया की उसके साथ हुई धोखाधड़ी में बैंक मैनेजर अनिल वर्मा सहित पूरा बैंक का स्टाफ शामिल है। जो लगातार उस पर सुलह-समझौते का दबाव बना रहे हैं। लिखित शिकायत पर सुमेरपुर पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की। जिससे मजबूरन उन्हें एसपी से मिलना पड़ा। उन्होंने मामले की जांच साइबर सेल को दी है।

खबरें और भी हैं...