राठ में किसानों ने तहसील परिसर में किया प्रदर्शन:लगातार बारिश से बर्बाद फसलों का मांगा मुआवजा, बेमियादी धरने की चेतावनी

राठ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राठ में तहसील परिसर में किसानों ने प्रदर्शन किया। लगातार बारिश से बर्बाद फसलों के नुकसान की भरपाई के लिए मुआवजा मांगा। किसानों ने एसडीएम को ज्ञापन भी सौंपा।

हमीरपुर की राठ तहसील परिसर में आज सैकड़ों किसानों ने तहसील परिसर में एकत्र होकर भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले नारेबाजी की।

मुआवजे की लगाई गुहार

किसानों ने वर्षा से नष्ट हुई खरीफ की फसलों का सर्वे कराकर मुआवजे की मांग की है। इस दौरान किसानों ने एसडीएम पवन प्रकाश पाठक को ज्ञापन सौंपकर नष्ट हुई फसलों का सर्वे कराकर मुआवजा दिलाने की गुहार लगाई। भारतीय किसान यूनियन के बुंदेलखंड महासचिव रामपाल सिंह चिकासी ने बताया कि इस माह हुई अत्यधिक बारिश की वजह से दलहन और तिलहन की फसलें बर्बाद हो गईं हैं। इसके अलावा खेतों की सफाई कराने के लिए मजदूरों को लगाने से किसानों पर अतिरिक्त आर्थिक भार भी पड़ेगा।

फसलों का सर्वे कराने की मांग

किसानों ने शासन और प्रशासन से अपील करते हुए कहा कि किसानों की परिस्थितियों को देखते हुए मुआवजे के रूप में आर्थिक मदद दी जाए। उन्होंने मांग की कि किसानों की नष्ट हुई फसलों का सर्वे कराकर उन्हें अति शीघ्र क्षतिपूर्ति दिलाई जाए। चेतावनी दी कि आगामी 5 अक्टूबर तक नष्ट हुई फसलों का सर्वे नहीं कराया जाता है तो भारतीय किसान यूनियन बेमियादी धरना देगी।

तहसील परिसर में नाराजगी जाहिर करते किसान।
तहसील परिसर में नाराजगी जाहिर करते किसान।

इस दौरान प्रेमनारायण सिंह पूर्व प्रधान, कमला प्रधान चिल्ली ,रामसनेही राजपूत ,वीरेंद्र सिंह राजपूत, राम प्रकाश बाबू जी, नंदलाल, उपेंद्र रावत, मूरत सिंह राजपूत, हरिपाल ,लक्ष्मी, शिवपाल , उदल सिंह, इकराम, अवध, नरेश, कालीचरण ,भजनलाल व किशोरी लाल के अलावा अन्य सैकड़ों किसान मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...