151 में जमानत मिलने पर बांटने होंगे 200 मास्क:हापुड़ में एसडीएम ने सुनाया अनोखा फरमान, कोरोना के बढ़ते खतरें को देखकर की पहल

हापुड़16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हापुड़ में एसडीएम ने जमानत पर छूटने वाले आरोपियों को दिए मास्क - Dainik Bhaskar
हापुड़ में एसडीएम ने जमानत पर छूटने वाले आरोपियों को दिए मास्क

हापुड़ में एसडीएम कोर्ट ने धारा 151 के तहत जमानत लेने वालों को एक अनोखा फरमान सुनाया है। एसडीएम दिग्विजय सिंह ने कहा कि 151 के तहत जो भी अपराधी जमानत लेकर बाहर जाएंगे। उन्हें 200 मास्क आम लोगों को वितरित करने होंगे। उन्होंने ऐसा कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए किया है। उनके आलाधिकारी भी उनकी इस पहल के लिए उनकी सराहना कर रहे हैं।

कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमित हुए थे एसडीएम

देश में कोरोना की दूसरी लहर अप्रैल 2021 मैं आई तो एसडीएम सदर दिग्विजय सिंह भी 15 अप्रैल 2021 को कोविड संक्रमित हो गए थे। ऐसे में 14 दिन आइसोलेशन में रहकर भी वह लोगों की सेवा करते रहे। अब तीसरी लहर आई तो उन्होंने फिर लोगों के बीच जाकर कोरोना की रोकथाम के लिए कार्य करना शुरू कर दिया है।

शांतिभंग रोकने के लिए लगाई जाती है 151

वकील विवेक गर्ग ने बताया कि पुलिस द्वारा छोटे मारपीट मामलों की रोकथाम के लिए आरोपियों के खिलाफ 151 की कार्यवाही की जाती है। भारतीय दंड संहिता की धारा 151 के अनुसार यदि कोई व्यक्ति ऐसी किसी गैंग या सभा में शामिल होता है या पहले से ही शामिल पाया जाता हैं। जिसमें पांच या उससे ज्यादा लोग शामिल हो और उनका मु्ख्य उद्देश समाज में विवाद करवाना या कोई भी सामूहिक कार्य को बिगाड़ना हो। जिसके बाद पुलिस उसे एसडीएम या मजिस्ट्रेट के सामने पेश करती है।

जनता के स्वास्थ्य का ख्याल है प्राथमिकता

एसडीएम दिग्विजय सिंह ने बताया कि शांतिभंग करने वालों को नियम के अनुसार जमानत दी जा रही है। ओमीक्रोम के बढ़ते खतरे को लेकर शांतिभंग की धारा में चालान होकर आ रहे आरोपियों को मास्क वितरण के लिए प्रेरित किया जा रहा है। जनता के स्वास्थ्य का ख्याल रखना ही उनकी प्राथमिकता में शामिल है। कोरोना से बचाव के लिए साफ- सफाई, मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी है।