हरदोई में मंहगे मिलेंगे मिट्टी के दिये:मिट्टी की कमी के चलते कुम्हार खपत की आधी मात्रा भी नहीं कर सके उत्पादन, जबकि डिमांड ज्यादा है

हरदोई8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हरदोई में कुम्हारों के लिए दिये बनान हुआ मुश्किल। - Dainik Bhaskar
हरदोई में कुम्हारों के लिए दिये बनान हुआ मुश्किल।

हरदोई में इस दीवाली मिट्टी के दियों की कीमत महंगी होगी। कुम्हारों का कहना है कि उन्हें मिट्टी भरपूर मात्रा में मिल पा रही है। जिसके चलते उन्हें डिमांड के हिसाब से उत्पादन करने में परेशानी आ रही है। कुम्हारों के सामने ऐसा आर्थिक संकट खड़ा हो गया है कि वह लोग अब इश कारोबार को छोड़कर किसी दूसरे कारोबार के बारे में सोचना शुरू कर चुके हैं।

मिट्टी न मिलने से खड़ा हुआ आर्थिक संकट
जिले के कुम्हार किशन पाल बताते है कि कई दशक से वो मिट्टी का काम कर रहे। मिट्टी के बर्तन खिलौने, दिवाली में दिए व मूर्ति बनाने का काम करते हैं। लेकिन इस बार न तो मिट्टी मिली न ही सरकार ने कोई पट्टा किया। जिस से वो मिट्टी खोद कर मिट्टी से बनने वाले प्रोडक्ट बना सकते। किशन ने बताया मिट्टी न मिलने से उनका परिवार भी अब आर्थिक तंगी का शिकार है। भरण-पोषण करना बेहद मुश्किल हो रहा है। जब मिट्टी ही नहीं मिलेगी तो वो बनाएंगे क्या और खाएंगे क्या।

कोई और कारोबार करेंगे शुरू
कुम्हार रामखेलावन ने बताया कि प्लास्टिक और चाइनीज आइटम ने मार्केट को ऐसा जकड़ रखा है कि मिट्टी से निर्मित चीजों को लेना लोग पसंद नहीं करते है। क्योंकि मिट्टी का आइटम चाइनीज और प्लास्टिक के मुकाबले महंगा पड़ता है। जैसे तैसे गुजर बसर कर रहे थे। लेकिन अब मिट्टी भी मिलना बंद हो गई है। सरकार अगर प्लस्टिक और चाइनीज चीजों पर प्रतिबंध नहीं लगाएगी तो हमारा धंधा चौपट ही है। हम विचार कर रहे है अब कोई और धंधा शुरू कर दे जिसके बाद ही भरण-पोषण सम्भव हो पाएगा।