हरदोई...सपा नेताओं ने प्रशासन पर लगाया प्रताड़ित करने का आरोप:पूर्व जिलाध्यक्ष ने कहा- बीजेपी के इशारे पर काम कर रहा प्रशासन, फर्जी मुकदमों में फंसा रही पुलिस

हरदोई7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सपा नेताओं ने प्रशासन पर लगाया - Dainik Bhaskar
सपा नेताओं ने प्रशासन पर लगाया

समाजवादी पार्टी के नेताओं ने हरदोई शहर के एक होटल में प्रेस कांफ्रेंस कर बीजेपी नेताओं और सरकार के दबाव में जिला प्रशासन द्वारा गलत तरीके से फंसाये जाने का अंदेशा जताते हुए कार्रवाई की बात कही है. सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष पद्मराज सिंह यादव ने कहा कि जैसे-जैसे प्रदेश में 2022 का चुनाव नजदीक आ रहा है, बीजेपी के लोग प्रशासन के द्वारा सपा नेताओं या उनकी पार्टी की विचारधारा रखने वालों के खिलाफ गलत तरीके से दबाव बनाकर उन्हें फर्जी मुकदमों में फंसाने की धमकी दे रहे हैं.

पुलिस पर लगाया परेशान करने का आरोप

पूर्व जिलाध्यक्ष पद्मराज ने कहा कि इसका एक उदाहरण सामने भी आ चुका है। जब जेल में बंद सवायजपुर विधानसभा से चुनाव लड़े अनुपम दुबे से मिलाई करने गए लोगों पर पुलिस ने दबाव बनाना शुरू कर दिया। आरोप है कि अनुपम दुबे से मिलाई करके आए कुछ प्रधान के घर पुलिस पहुंची और उन्हें अनुपम दुबे का साथी बता कर फंसाने का आरोप लगाया, जिसके बाद पीड़ित व्यक्ति गांव से पलायन कर गए हैं.

जल्द ही अनुपम दुबे से जेल में मिलने जाएंगे

पूर्व जिलाध्यक्ष पद्मराज ने चुनौती देते हुए कहा कि वो शीघ्र ही अनुपम दुबे से जेल में मिलने जाएंगे। प्रशासन चाहे उन पर कोई भी कार्रवाई करे. प्रेस कॉन्फ्रेंस में अवैध शराब का कारोबार करने के आरोपी सुभाष पाल भी थे। सुभाष पाल ने बताया कि पंचायत चुनाव के दौरान सपा का प्रदर्शन अच्छा था। हरदोई में जिला पंचायत अध्यक्ष सपा का ही बनता, लेकिन उनकी सक्रियता सरकार के गले के नीचे नहीं उतर रही थी।

2022 में होगी सत्य की विजय

सुभाष पाल ने कहा कि लिहाजा जिला प्रशासन ने राजनीतिक कुंठा के चलते उन पर गैंगस्टर और जिला बदर की कार्रवाई की गई। हालांकि हाईकोर्ट से उन पर लगे तमाम आरोपों को खारिज कर दिया गया और वो बरी हो गए. न्याय, सत्य और सदाचार जीता। अन्याय, असत्य और अनाचार की हार हुई और ऐसे ही 2022 में अत्याचार हारेगा और सत्य की विजय होगी.