विधानसभा उपाध्यक्ष का विवादित बयान:हरदोई में नितिन अग्रवाल बोले- थाने में रहना है तो मेरे कार्यकर्ता को चाय पिलानी पड़ेगी

हरदोई6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हरदोई में नितिन अग्रवाल ने कहा कि पुलिस को कार्यकर्ताओं की बात सुननी होगी। अगर किसी ने ऐसा नहीं किया, तो वह अपना ट्रांसफर दूसरे जिले में करवा ले। - Dainik Bhaskar
हरदोई में नितिन अग्रवाल ने कहा कि पुलिस को कार्यकर्ताओं की बात सुननी होगी। अगर किसी ने ऐसा नहीं किया, तो वह अपना ट्रांसफर दूसरे जिले में करवा ले।

हरदोई में विधानसभा उपाध्यक्ष नितिन अग्रवाल ने शनिवार को विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि पुलिस वालों को अगर थाने में रहना है, तो उनके कार्यकर्ताओं को सम्मान देना होगा। उन्होंने कहा कि अगर कार्यकर्ता कुछ गलत करते हैं, तो इसकी सूचना उनको दें, लेकिन कार्यकर्ता अगर थाने पहुंचता है, तो पुलिस वालों को उसको चाय पिलानी पड़ेगी।

कार्यकर्ताओं के सम्मान से समझौता नहीं करेंगे

नितिन अग्रवाल ने कहा कि पुलिस और राजस्व के अधिकारियों को बता दिया गया है कि कार्यकर्ताओं का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
नितिन अग्रवाल ने कहा कि पुलिस और राजस्व के अधिकारियों को बता दिया गया है कि कार्यकर्ताओं का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

नितिन अग्रवाल शनिवार को पिछड़ा वर्ग सम्मेलन में भाग लेने पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं के सम्मान से कोई समझौता नहीं होगा। अगर थाने में रहना है, तो पुलिस को कार्यकर्ताओं की बात सुननी होगी। अगर किसी ने ऐसा नहीं किया, तो वह यहां से अपना ट्रांसफर दूसरे जिले में करवा ले। नितिन अग्रवाल ने कहा कि पुलिस और राजस्व के अधिकारियों को बता दिया गया है कि कार्यकर्ताओं का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

नितिन जीतेंगे तो मंत्री बनेंगे, बाकी सब संतरी बनेंगे

नितिन अग्रवाल के पिता पूर्व सांसद नरेश अग्रवाल भी अपने विवादित बयानों के लिए चर्चित रहे हैं। एक बार तो उन्होंने भगवान राम और विष्णु पर भी विवादित टिप्पणी कर दी थी। सम्मेलन के दौरान उन्होंने कहा कि नितिन जीतेंगे तो मंत्री बनेंगे। बाकी सब संतरी बनेंगे। श्रवण देवी मंदिर का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस मंदिर का इतिहास रहा है। जब भी वह चुनावी मैदान में उतरते हैं, तो पहला आयोजन यहीं होता है। हर बार जीत भी मिलती है।

उन्होंने कहा कि योगी सरकार में गुंडा मुर्गा बनकर थाने आता है। इस सरकार में अपराधी की जगह या तो जेल में है या भगवान के यहां।

नितिन अग्रवाल का सियासी करियर

उत्तर प्रदेश विधानसभा का उपाध्यक्ष चुने जाने के बाद सदस्यों का अभिवादन स्वीकार करते नितिन अग्रवाल। (फाइल फोटो)
उत्तर प्रदेश विधानसभा का उपाध्यक्ष चुने जाने के बाद सदस्यों का अभिवादन स्वीकार करते नितिन अग्रवाल। (फाइल फोटो)
  • नितिन अग्रवाल सपा के टिकट पर हरदोई से तीसरी बार विधायक हैं।
  • 2008 के उपचुनाव में पहली बार विधायक चुने गए।
  • 2012 में दूसरी बार विधायक चुने गए।
  • 2017 में तीसरी बार चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे।
  • अखिलेश यादव की सरकार में वह स्वास्थ्य राज्यमंत्री रहने के बाद राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाए गए।
  • अक्टूबर में वह विधानसभा के डिप्टी स्पीकर चुने गए। इसमें उनका भाजपा ने समर्थन किया और उन्हें 304 मत मिले।