मथुरा हादसे की रुलाने वाली बात:8 दिन पहले 7 फेरे लेने वाले पति-पत्नी एक साथ चले गए, शादी में बहुओं ने साथ में जमकर डांस किया था

हरदोई2 महीने पहले

हरदोई में बेटे और पोती की शादी करके वापस नोएडा घर जा रहे एक ही परिवार के सात लोगों की यमुना एक्सप्रेस-वे पर सड़क हादसे में मौत हो गई। हादसा शनिवार सुबह हुआ। कार में लल्लू, उनकी पत्नी छुटकी, दो बेटे राजेश और संजय, दो बहू निशा और नंदनी, 6 साल का पोता धीरज और 3 साल का पोता कृष सवार था। हादसे में 8 दिन पहले सात फेरे लेने वाले पति-पत्नी की भी मौत हो गई। बस एक बेटा श्रीगोपाल और 3 साल का पोता कृष बचा है। परिवार नोएडा के सेक्टर 93 में रहता था।

ये फोटो लल्लू की पोती मोनी की शादी की है। 2 मई को राम करण की बेटी मोहिनी की शादी थी।
ये फोटो लल्लू की पोती मोनी की शादी की है। 2 मई को राम करण की बेटी मोहिनी की शादी थी।

दो शादियों से परिवार में थी खुशियां
लल्लू के 5 बेटे और 1 बेटी थी। जबकि राम करण उनके भाई का बेटा था, जिसे लल्लू अपने छठे बेटे कि तरह मानते थे। लल्लू के 3 बेटों की शादी हो चुकी है। चौथे बेटे की शादी करने के लिए पिता लल्लू परिवार के साथ 25 अप्रैल को हरदोई से 55 किलोमीटर दूर अपने गांव सुंदरपुर पहुंचे थे। भाई का बेटा राम करण जिसे लल्लू सबसे बड़ा बेटा मानते थे। 2 मई को राम करण की बेटी मोहिनी की भी शादी थी। राम करण का परिवार लुधियाना में रहता है। काफी दिनों बाद सब मिले थे तो परिवार में खुशी का माहौल था।

इसी घर में लल्लू के बेटे और पोती की शादी हुई थी। परिवार पहले इसी घर में रहता था। कुछ साल पहले ही सभी लोग नोएडा शिफ्ट हुए थे।
इसी घर में लल्लू के बेटे और पोती की शादी हुई थी। परिवार पहले इसी घर में रहता था। कुछ साल पहले ही सभी लोग नोएडा शिफ्ट हुए थे।

राम बाबू कि साली थी नंदनी
लल्लू के तीसरे बेटे राम बाबू कि पत्नी आरती ने अपनी बहन नंदनी की शादी देवर राजेश से तय की। 29 अप्रैल को राजेश की शादी बाराबंकी की नंदनी से हुई। वहीं 2 मई को मोहिनी की शादी हरदोई के रहने वाले रंजीत से हुई। घर में नई बहू के आने पर सारी रस्में अदा की गईं। सारे कार्यक्रम खत्म होने के बाद परिवार ने कुछ समय गांव में ही बिताया।

पढ़ेंः यमुना एक्सप्रेस-वे पर परिवार के 7 लोगों की मौत:तेज रफ्तार कार आगे चल रहे वाहन से टकराई, मां-बाप, दो बेटे; दो बहुओं और पोते ने मौके पर दम तोड़ा

राजेश और नंदनी के साथ 29 अप्रैल को हुई थी। दोनों की शादी को बस 8 दिन ही हुए थे। सड़क हादसे में दोनों की मौत हो गई।
राजेश और नंदनी के साथ 29 अप्रैल को हुई थी। दोनों की शादी को बस 8 दिन ही हुए थे। सड़क हादसे में दोनों की मौत हो गई।

बहू के साथ खूब नाची थी छुटकी
गांव के लोगों ने बताया कि नई बहू के आने पर 4 मई को छोटा सा कार्यक्रम कर हम लोगों को बुलाया भी गया था। वहीं मोनी की भी चौथी हो गई थी। कार्यक्रम में छुटकी बहू नंदनी के साथ खूब नाची थी, लेकिन क्या पता था कि ये खुशियां बस चार दिन की हैं। ये हादसा तो परिवार का काल बनकर आया। सबको खा गया। पूरे गांव में मातम है।

पांचवां बेटा श्रीगोपाल परिवार के साथ गांव गया हुआ था। हादसे में श्रीगोपाल गंभीर रूप से घायल है। श्रीगोपाल का इलाज आगरा में चल रहा है।
पांचवां बेटा श्रीगोपाल परिवार के साथ गांव गया हुआ था। हादसे में श्रीगोपाल गंभीर रूप से घायल है। श्रीगोपाल का इलाज आगरा में चल रहा है।

दो बेटे पहले ही आ गए थे घर
गांव के चाचा राम प्रकाश ने बताया कि लल्लू का तीसरे नंबर का बेटा राम बाबू अपने परिवार के साथ शुक्रवार सुबह ही घर से निकल गया था। वो बस से नोएडा गया था। नई बहू के आने की तैयारियां करने के लिए वो लोग पहले घर चले गए। चाचा ने रोते हुए बोला कि लेकिन अब तो सबके शव घर पहुंचेंगे।

वहीं लल्लू का पहले नंबर का बेटा राजू गांव में ही रुका था। वो शनिवार को नोएडा जाने वाला था। कुछ काम और हिसाब के कारण वो रुक गया था। लेकिन उसके निकलने के पहले ही सबकी मौत की खबर आ गई। नवविवाहिता पोती मोनी ने बताया कि दादा बोले थे खूब कमाना खूब अच्छे से रहना। कोई दिक्कत हो तो बताना हम लोग हमेशा साथ रहेंगे। अब हम किसको बताएंगे। दादा तो चले गए छोड़कर।

मोनी परिवार के साथ लुधियाना में रहती थी। हादसे के बाद से वो सदमे में है।
मोनी परिवार के साथ लुधियाना में रहती थी। हादसे के बाद से वो सदमे में है।

सीएम ने हादसे पर जताया दुख
हादसे में लल्लू और उनकी पत्नी छुटकी सहित दो बेटे राजेश और संजय, दो बहू निशा और नंदनी और 6 साल के पोते धीरज की मौत हो गई। लल्लू का एक बेटा श्रीगोपाल और 3 साल का पोता कृष गंभीर घायल है। मथुरा के इस दर्दनाक हादसे में सीएम योगी ने दुख जताया है। उन्होंने घायलों को बेहतर इलाज के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

हादसे की जानकारी मिलने पर मथुरा के पोस्टमार्टम हाउस पर पहुंची इकलौती बेटी सुनीता और अन्य परिजन शवों को देखकर बेहाल हो गए।
हादसे की जानकारी मिलने पर मथुरा के पोस्टमार्टम हाउस पर पहुंची इकलौती बेटी सुनीता और अन्य परिजन शवों को देखकर बेहाल हो गए।
धीरज और कृष संजय के बेटे थे। धीरज 6 साल का था। कृष 3 साल का है। हादसे में धीरज की मौत हो गई है। कृष का इलाज चल रहा है।
धीरज और कृष संजय के बेटे थे। धीरज 6 साल का था। कृष 3 साल का है। हादसे में धीरज की मौत हो गई है। कृष का इलाज चल रहा है।