7 माह की गर्भवती पत्नी को पीट-पीट कर मार डाला:चोरी से करने जा रहा था शव का अंतिम संस्कार, पुलिस ने किया गिरफ्तार

हरदोई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरदोई में अपनी पत्नी के शव का चोरी-छिपे अंतिम संस्कार करने जा रहे एक युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। युवक का नाम मोनू है। बीते दिनों उसकी पत्नी प्रीती की मौत पर बड़ा हंगामा हुआ था ,जिसके चलते वह शव को चुपके से जला देना चाहता था। इसको लेकर प्रीती के पिता का आरोप है कि उसकी बेटी को बहाने से नोएडा ले जाया गया। जहां उसकी पीट-पीट कर दी गई। पुलिस ने पति को हिरासत में ले लिया है। वहीं ससुराली फरार हो गए।

कुछ दिनों पहले ही पत्नी के साथ गया था नोएडा
दरअसल शाहाबाद कोतवाली के अल्लापुर इब्नेज़ई निवासी सतीश की पुत्री प्रीती की शादी लोनार थाने के सिलवारी गांव के मोनू के साथ करीब डेढ़ साल पहले हुई थी। बकौल सतीश मोनू नोयडा में काम करता है। करीब ढ़ाई महीने पहले वह प्रीती को अपने साथ लिए गया था। आरोप है कि रविवार को मोनू ने प्रीती की बड़ी बेरहमी से पिटाई कर दी। जिससे उसकी मौत हो गई।

चोरी-छुपे शव का अंतिम संस्कार करने जा रहा था
पति प्रीती का शव गांव ले कर पहुंचा। जहां प्रीती के शव को चोरी-छिपे फूंकने के लिए ले जाया जा रहा था। तभी सतीश को इसकी भनक लग गई। सिलवारी पहुंचे पिता के अलावा प्रीती के मायके वालों ने दहेज़ हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा किया।इस पर वहां पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्ज़े में लेते हुए पति मोनू को हिरासत में ले लिया। जबकि ससुराल वाले फरार हो गए। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी

सात महीने की गर्भवती थी प्रीती
प्रीती सात महीने से प्रेग्नेंट थी। उसकी मौत के साथ ही मासूम बच्चे का भी अस्तित्व दुनिया में आने से पहले ख़त्म हो गया। प्रीती के मां बनने के दिन का उसके मायके वाले तमाम हसरतों के साथ बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। प्रीती की मौत की खबर सुनते ही हर कोई सन्न रह गया।

खबरें और भी हैं...