हाथरस...सर्दी में लाभकारी गुड़…:मुजफ्फरनगर, सहारनपुर से मंगाई जा रही सौंठ-काली मिर्च वाली गुड़, खांसी-जुखाम में है फायदेमंद

हाथरस6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हाथरस में बढ़ी गुढ़ की मांग - Dainik Bhaskar
हाथरस में बढ़ी गुढ़ की मांग

हाथरस में गुड़ के गुण हम सभी से छूपे नहीं हैं। सर्दी के मौसम में इसकी मांग बढ़ जाती है। गुड़ का उपयोग पुरातन काल से होता चला आ रहा है। हमारे पूर्वज दूध के साथ गुड़ का सेवन अधिकतर किया करते थे। खांसी और गले के लिए यह गुणकारी मानी जाती है। गुड़ में प्रचुर मात्रा में आयरन पाया जाता है।

खास पदार्थों की मिलावट से और बढ़ी मांग

समय के साथ गुड़ बनाने में लोगों ने बदलाव किया और इसमें कई तरह की औषधीय पदार्थों की मिलावट की जिससे इसकी मांग में काफी बढ़ोत्तरी हुई। अब गुड़ बनाने वालों ने गन्ने के रस में सोंठ, काली मिर्च और घी आदि मिलाना शुरू कर दिया। इससे यह और खास बनी, जिससे शहर के लोगों में इसकी और मांग बढ़ी। हाथरस के विक्रेता संजय कुमार बताते हैं कि वह हर साल सर्दियों में इस गुड़ को स्पेशल डिमांड पर मंगाते है, और फिर भी यह कम पड़ जाता है, कुछ लोग इसे दवा के रूप में भी उपयोग करते हैं।

सप्लाई के लिए आसपास के जिलों में होता है तैयार

इस स्पेशल गुड़ के बारे में गुड़ खरीदने वाले जय शर्मा ने बताया कि उनके पूरे परिवार में कई सालों से इस गुड़ का सेवन सर्दी के समय मे किया जाता है और सर्दी व खाँसी होने पर हम लोग डाक्टर के पास दवा लेने बहुत कम ही जाते है।