• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Hathras
  • Kidnapper Made For Girlfriend In Delhi: The Youth Of Hathras Kidnapped An Elderly Woman, Plotted After Seeing The Crime Patrol; 80 Lakh Demanded In Ransom

दिल्ली वाली गर्लफ्रेंड के लिए बना किडनैपर:हाथरस के युवक ने बुजुर्ग महिला का किया अपहरण, क्राइम पेट्रोल देखकर रची साजिश; फिरौती में मांगे 80 लाख, 3 गिरफ्तार

हाथरस2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

हाथरस का युवक दिल्ली वाली गर्लफ्रेंड के लिए किडनैपर बन गया। क्राइम पेट्रोल देखकर उसने बुजुर्ग महिला के अपहरण की साजिश रच डाली। दो दोस्तों के साथ अपहरण के बाद परिजनों ने 80 लाख की फिरौती मांगी। पुलिस ने सूचना मिलने के 3 घंटे बाद तीनों आरापियों को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही बुजुर्ग महिला को सकुशल उनके परिवार वालों को सौंप दिया।

मामला कोतवाली क्षेत्र के घंटाघर हलवाई खाना मोहल्ले का है। यहां रहने वाली सुनीता दीक्षित 11 अक्टूबर को धर्मशाला गांधी चौक पर भागवत कथा सुनने गईं थी। शाम करीब 7 बजे उनके बेटे शैलेश दीक्षित के मोबाइल पर एक कॉल आई। कॉल करने वाले ने बताया कि उनकी मां का अपहरण कर लिया है। फिरौती में उसे 80 लाख रुपए चाहिए, नहीं तो वह उसकी मां को मार देगा। वहीं, किसी को न बताने पर भी जान से मारने की धमकी दी।

अपहरणकर्ताओं की धमकी से शैलश दीक्षित काफी डर गए। उन्होंने मामले की जानकारी अपने परिजनों को दी। इसके बाद सभी ने सुनीता को हर जगह तलाश किया, लेकिन उनका कोई सुराग नहीं लगा। उन्होंने मंगलवार को पुलिस को तहरीर दी।

पुलिस अधीक्षक ने टीम को 15000 रुपए देकर सम्मानित किया है।
पुलिस अधीक्षक ने टीम को 15000 रुपए देकर सम्मानित किया है।

तीन घंटे में पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया
पुलिस अधीक्षक विनीत जयसवाल ने अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें बनाई। साथ ही एसओजी और सर्विलांस टीम को भी लगाया। पुलिस ने कैलोरा चौराहा, सासनी, अलीगढ़ रोड, इगलास रोड, विजयगढ रोड, हाथरस बाईपास रोड, हतीसा भगवंतपुर आदि जगहों पर दबिश दी।

करीब तीन घंटे के प्रयास के बाद पुलिस ने कोटा कपूरा मोड़ से अलीगढ़ के रहने वाले सौरभ अग्रवाल पुत्र मनोज कुमार, हाथरस के ऋषि शर्मा पुत्र संजू और नितिन पुत्र करन सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। अभियुक्तों के कब्जे से तमंचा, कारतूस, मोबाइल और इको गाड़ी बरामद हुई है। पुलिस ने सुनीता दीक्षित को सकुशल परिजनों को सौंप दिया है।

क्राइम पेट्रोल देखकर आया आइडिया
पुलिस के मुताबिक, सौरभ अग्रवाल का गांव में जनरल स्टोर है। वह कभी-कभी अपने पिता की इको भी चलाता है। सौरभ की दिल्ली में गर्लफ्रेंड है। उसको इंप्रेस करने के लिए वो उस पर काफी रुपए खर्च करता था। कम समय में ज्यादा रुपए कमाने के लिए वह सट्‌टा भी लगाता था। क्राइम पेट्रोल देखकर उसे अपहरण और फिरौती का आइडिया आया। उसने दोस्तों के साथ मिलकर अपहरण की पूरी स्क्रिप्ट तैयार कर ली। उसने सबसे पहले मोबाइल और सिम खरीदा।

भागवत कथा में बुजुर्ग को टारगेट किया
10 अक्टूबर को वह दोस्तों के साथ धर्मशाला के गांधी चौक में भागवत कथा में गई। वहां पर उसने बुजुर्ग महिला को टारगेट किया। बातों-बातों में सौरभ ने सुनीत दीक्षित से जान पहचान बना ली। उनसे घर, दुकान आदि के बारे में जानकारी की। इसके बाद उनकी दुकान की भी रेकी की। 11 अक्टूबर को आरोपी भागवत कथा में गया।

सुनीता को अपनी मां से मिलाने के बहाने बाहर लेकर आया। जहां उसके दोस्त ऋषि और नितिन इको कार लेकर पहले से तैयार खड़े थे। तीनों ने अपहृता को ईको में बैठा लिया। उनके मुंह पर टेप लगाया और आंखों पर पट्‌टी बांध दी। इसके बाद उनको शहर में घुमाकर फिरौती के लिए फोन करते रहे। इसी दौरान पुलिस ने तीनों को दबोच लिया।

सफलता पर पुलिस टीम को मिला 40 हजार रुपए का इनाम
घटना का खुलासा करने वाली टीम को अपर पुलिस महानिदेशक आगरा जोन ने 25000 रुपए के पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की है। वहीं, पुलिस अधीक्षक ने टीम को 15000 रुपए देकर सम्मानित किया है।

खबरें और भी हैं...