हाथरस में हत्यारोपी मां और प्रेमी गिरफ्तार:अवैध संबंधों की जानकारी होने पर बेटे ने टोका, 11 दिन पहले 2 प्रेमियों के साथ मिलकर कर दिया कत्ल

हाथरस13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हाथरस के सादाबाद थाना क्षेत्र के नगला बाग गांव में एक मां ने अपने दो प्रेमियों के साथ मिलकर बेटे की हत्या कर दी थी। शव को छिपाने के लिए आलू के खेत में फेंक दिया था। परिजनों की तहरीर के आधार पर जांच में जुटी पुलिस ने हत्यारोपी मां व उसके एक प्रेमी को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा किया है। मामले में अभी एक आरोपी फरार चल रहा है।

बता दें कि 28 दिसंबर 2021 को सुबह 7:15 बजे सादाबाद पुलिस को सूचना मिली थी कि नगला बाग गांव में आलू के खेत में प्रवीन (20) पुत्र स्व. योगेंद्र सिंह का शव पड़ा हुआ है। सूचना पर पुलिस घटनास्थल पहुंची। जांच-पड़ताल के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। डॉग स्क्वॉयड और फॉरेन्सिक टीम ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया।

सादाबाद थाने में दर्ज कराया था मुकदमा

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण गला दबा कर एवं चोट लगने के कारण होना पाया गया। घटना के संबंध में परिजनों की लिखित तहरीर के आधार पर सादाबाद थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था। घटना के खुलासे के लिए एसपी विनीत जायसवाल ने सीओ सादाबाद के नेतृत्व में टीम का गठन किया था। इसके साथ एसओजी व सर्विलांस टीम को भी लगाया गया।

शुक्रवार को एसओजी टीम और थाना सादाबाद पुलिस की संयुक्त कार्यवाही में घटना में शामिल दो अभियुक्त लोकेंद्र एवं मृतक की मां अनीता को गिरफ्तार कर लिया गया। अभियुक्त लोकेंद्र की निशानदेही पर बिछौना (जिसमें रखकर मृतक के शव को खेत में फेंका गया था) बरामद किया गया। पूछताछ में गिरफ्तार अभियुक्तों ने जुर्म कबूल करते हुए बताया कि, अभियुक्त अनीता का पास के ही गांव नगला घनी के हरदेव उर्फ पिल्ली और लोकेन्द्र सिंह निवासी आजनोठ, थाना नोहझील जिला मथुरा के साथ संबंंध थे।

तीसरा अभियुक्त फरार

इस बारे में अनीता के बेटे प्रवीन को पता चल गया था। प्रवीन द्वारा इस बात को लेकर अपनी मां को काफी बुरा-भला कहते हुए सभी गांव वालों और रिश्तेदारों में बदनाम करने की धमकी दी जा रही थी। इसी भय एवं लोक-लज्जा के डर से 28 दिसंबर की रात में जब प्रवीन घर में सो रहा था, तभी अभियुक्तगण अनीता, हरदेल उर्फ पिल्ली और लोकेन्द्र तीनों ने मिलकर योजनाबद्ध तरीके से उसको घायल कर गला दबाकर हत्या कर दी। शव को रात में ही उसी के बिछौना में लपेटकर आलू के खेत में ले जाकर डाल दिया। तीसरा वांछित अभियुक्त हरदेव उर्फ पिल्ली अभी फरार चल रहा है।

खबरें और भी हैं...