शिक्षण संस्थान पर मंदिर की भूमि पर कब्जे का आरोप:मोहल्लावासियों ने की शिकायत, नगरपालिका-राजस्व की टीम ने की पैमाइश

कालपी17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

योगी सरकार बनने के बाद से अतिक्रमण हटाओ अभियान की सरगमियां तेज हो गई हैं। मोहल्ला सदर बाजार स्थित प्राचीन महादेव मन्दिर परिसर पर कुआं व परिक्रमा मार्ग को अतिक्रमणकारियों से मुक्त कराने की मांग की गई थी। जिसके बाद नगर पालिका परिषद की संयुक्त टीम, राजस्व विभाग से सदर लेखपाल व नजूल लिपिक ने मोहल्ले वासियों की उपस्थिति में नक्शे के आधार पर मौके पर पहुंचकर पैमाइश की।

बीते सप्ताह कालपी नगर के मोहल्ला सदर बाजार में स्थित प्राचीन महादेव मंदिर के परिक्रमा स्थल पर एक शिक्षण संस्था द्वारा अतिक्रमण किये जाने की शिकायत की गई थी। मोहल्ले वासियों ने उप जिलाधिकारी कालपी अंकुर कौशिक को एक लिखित शिकायती पत्र सौंपते हुए मंदिर परिसर पर कुआं व परिक्रमा मार्ग को अतिक्रमणकारियों से मुक्त व निष्पक्ष जांच की मांग की थी। जिसके बाद उपजिलाधिकारी कालपी के आदेश पर नगर पालिका परिषद की संयुक्त टीम, राजस्व विभाग से सदर लेखपाल जयवीर सिंह व नजूल लिपिक शिशुपाल यादव ने मोहल्ले वासियों तथा शिकायतकर्ताओं की उपस्थिति में नक्शे के आधार पर मौके पर पहुंचकर पैमाइस की तथा जाँच रिपोर्ट को जल्द ही सक्षम अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत करने की बात कही, जिससे विवाद की स्थिति ख़त्म होगी।

मोहल्लेवासियों ने बताया कि ये बहुत ही प्राचीन और सिद्ध मन्दिर है और इस मन्दिर परिसर में एक प्राचीन कुआं है जिसके परिक्रमा परिसर पर समीप स्थित विद्यालय की प्रबंध समिति के द्वारा अवैध अतिक्रमण कर लिया गया तथा मंदिर परिसर के परिक्रमा मार्ग पर शौचालय व अवैध टीन सेट डालकर आस्था को ठेस पहुंचाई जा रही है तथा कुएँ को भी घेर लिया गया है, कुएं की परिक्रमा स्थल के एक कॉर्नर पर जनरेटर रूम, कार्यालय तथा दूसरे कॉर्नर पर शौचालय व स्टोर रूम का अवैध निर्माण कराया गया है।

फिलहाल मामले की हकीकत क्या है, यह जांच का विषय है। मंदिर की भूमि की पैमाइश के वक्त जय खत्री, दीपक धवन, लखन लाल द्विवेदी, अमित अग्रवाल, नरेश द्विवेदी, सभासद भानु प्रताप उर्फ श्याम यादव, कपिल दीक्षित, अनिल पुरवार, मेवालाल साहू, सुरेंद्र राठौर, सुनील द्विवेदी, योगेश द्विवेदी आदि लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...