कालपी में स्कूली बच्चों की जिंदगी से हो रहा खिलवाड़:फिटनेस व संचालन की तिथि हई समाप्त, फिर भी धड़ल्ले से दौड़ रहे स्कूली वाहन

कालपी17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कालपी नगर व क्षेत्र के स्कूलों में बसों के अलावा मैजिक व टेंपो से बच्चों को स्कूल लाने ले जाने का काम खुलेआम हो रहा है। इन मैजिक व टेंपो के फिटनेस आदि की बात तो दूर इनके संचालन तक की तिथि भी निकल गई है। फिर भी बच्चों के जीवन के साथ खिलवाड़ करते हुए इन वाहनों से बच्चों को ढोया जा रहा है।

नगर व ग्रामीण क्षेत्र में विद्यालयों की कमी नहीं है। रोजाना ग्रामीण क्षेत्रों से बच्चे मैजिक व टेंपो में भरकर लाए और छुट्टी के बाद ले जाए जाते हैं। यह मैजिक, टेंपो स्कूल की ओर से लगे हैं। इन मैजिक टेंपो में केवल चालक के ही सहारे बच्चे होते हैं। वहीं मैजिक व टेंपो में गेट तक नहीं होता बच्चे जब इसमें बैठते हैं तो उनके गिरने का खतरा बना रहता है।

इस ओर परिवहन विभाग जरा भी ध्यान नहीं दे रहा है। बसों में आग बुझाने व प्राथमिक उपचार की कोई व्यवस्था नहीं रहती। बस में स्कूल प्रबंधक व प्रधानाचार्य का नंबर भी नहीं लिखा होता और महिला सहायक तो किसी स्कूल बस में दिखाई नहीं देती।

सबसे पहली बात स्कूल बस का रंग पीला होना चाहिए। जिससे दूसरे वाहन चालकों को स्कूल बस की जानकारी होती है। स्कूल बस की स्पीड 50 किमी प्रति घंटा से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। स्कूल बस में जीपीएस सिस्टम होना जरूरी है, ताकि अभिभावकों को बच्चों की लोकेशन की पूरी और सही जानकारी हर मिनट मिल सके।

स्कूल बस में लगा स्पीड मीटर हर छह महीने में अपडेट होना चाहिए, इसी के साथ स्कूल बस का परमिट होना अनिवार्य है। बस में ड्राइवर के साथ कंडक्टर और एक महिला अटेंडड होनी अनिवार्य है। जो कि बच्चों स्कूल बस में चढ़ाएगी और उतारेगी भी।

स्कूल बस की खिड़कियों पर 3 सेफ्टी ग्रिल लगी होनी चाहिए और उन ग्रिल की आपस की दूरी पांच से सात इंच होनी चाहिए है। बस ड्राइवर के पास फिटनेस सर्टिफिकेट होना चाहिए जिसमें आंखों की फिटनेस अति अनिवार्य है। फिटनेस सर्टिफिकेट एक वर्ष से पुराना नहीं होना चाहिए।

ड्राइवर सीट के साथ बाएं तरफ शीशा लगा होना जरूरी है। ताकि चालक बस के साथ बस के पीछे पांच मीटर की दूरी तक आते हुए वाहन देख सके। उपजिलाधिकारी ने कहा कि स्कूली बसों व अन्य वाहनों का चेकिंग अभियान चलाया जाएगा। अगर स्कूली वाहन मानक पर खरे नहीं मिलते हैं, तो स्कूल प्रबंधन पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...