जालौन में तीन असलहा तस्कर गिरफ्तार:9 तमंचे और कारतूस बरामद, पकड़े गए आरोपियों को पुलिस ने भेजा जेल

जालौन3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जालौन की रामपुरा पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने असलहों की तस्करी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने तीन अंतर्जनपदीय असलहा तस्कर गिरफ्तार किए हैं, इनके पास से 9 अवैध तमंचा और कारतूस बरामद किए हैं। पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें जेल भेज दिया।

उरई पुलिस लाइन में मामले का खुलासा करते हुए जालौन के अपर पुलिस अधीक्षक असीम चौधरी ने बताया कि रामपुरा थाना प्रभारी निरीक्षक कमलेश कुमार को मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि जनपद में असलहों की तस्करी करने वाला गिरोह बीहड़ क्षेत्र में आया हुआ है, और भारी मात्रा में असलहों की तस्करी करने वाला है। इस सूचना पर रामपुरा प्रभारी निरीक्षक ने अपनी टीम को सक्रिय करते हुए लगा दिया। इसी दौरान जगम्मनपुर के पास औरैया जाने के लिए बने जूही का पुल से करीब 30 कदम पहले जगम्मनपुर की तरफ ग्राम शिवगंज के पास रात में लगभग 11.50 बजे के करीब पुलिस को चेकिंग के दौरान बाइकें आती हुई दिखाई दी, जिसको पुलिस ने रोकने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस को देख बाइक सवार भागने लगे, जिसमें मौके से एक बाइक हीरो स्प्लेंडर प्लस यूपी 82 ए वाई 5990 पर सवार रिजवान अंसारी पुत्र मोहम्मद सादिक अंसारी, गुलशाद पुत्र शमशाद निवासीगण रुकनपुर थाना शिकोहाबाद जनपद फिरोजाबाद और अवनीश कुमार उर्फ पहलवान पुत्र ओमप्रकाश निवासी पचपेड़ा थाना शिकोहाबाद जनपद फिरोजाबाद को पकड़ लिया, जबकि कुछ और लोग मौके से भाग गए। पकड़े गए लोगों के पास से पुलिस ने 9 देसी तमंचा चार जिंदा कारतूस 315 तथा 2600 रुपये नगद और एक बाइक बरामद की है। अपर पुलिस अधीक्षक असीम चौधरी ने बताया कि यह लोग क्षेत्र में असलहों की तस्करी करते थे।

6 से 10 हजार में बेचते थे तमंचे

जालौन के अपर पुलिस अधीक्षक असीम चौधरी ने बताया कि पकड़े गए बदमाश डिमांड के हिसाब से तमंचे बनाते थे और इन्हें बीहड़ क्षेत्र में सप्लाई करते थे यह सभी लोग 6 से 10 हजार रुपए में तमंचा की सप्लाई करते थे, यह मूलतः शिकोहाबाद के रहने वाले हैं और वहीं पर असलहों को बनाकर डिमांड के हिसाब से क्षेत्रों में सप्लाई करते थे, फिलहाल कुछ लोग अभी गिरफ्त में आए हैं, बाकी लोगों की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है और जल्द से जल्द इनकी गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

डिमांड के हिसाब से बनाते थे तमंचे

पुलिस गिरफ्त में आये फिरोजाबाद जनपद के शिकोहाबाद के रहने वाले रिजवान, गुलशाद और अवनीश कुमार ने बताया कि लोगों की डिमांड के हिसाब से तमंचे बनाते थे, और दमन क्यों के हिसाब से उनकी बिक्री करते थे अधिकतर वह 6 से 10 हजार के बीच में इनको मांग करने वालों को भेज देते थे, एक तमंचे पर लगभग 1 से 2000 हजार का मुनाफा होता था।