जालौन में नवविवाहिता ने पिया एसिड:पारिवारिक कलह बना कारण, अंतिम संस्कार करने जा रहे ससुराल वालों को मायके वालों ने रोका

जालौन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जालौन में पुलिस ने शव का अंतिम संस्कार रोककर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। - Dainik Bhaskar
जालौन में पुलिस ने शव का अंतिम संस्कार रोककर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

जालौन में पारिवारिक कलह के चलते एक नवविवाहिता ने एसिड पी लिया। हालत बिगड़ने पर ससुराल वालों ने उसे अस्पताल में भर्ती करवाया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इसके बाद घरवाले उसका अंतिम संस्कार करने जा रहे थे। लेकिन मायके वालों ने मौके पर पहुंचकर उन्हें रोक लिया। मामले की जानकारी देकर पुलिस को भी बुलाया। उन लोगों ने ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

दोनों की 1 साल पहले हुई थी शादी

जिले के उरई कोतवाली क्षेत्र के राजेंद्र नगर प्रीति की शादी 1 साल पहले राजेन्द्र नगर के रहने वाले रामबाबू के साथ हुई थी। लेकिन शादी के कुछ समय बाद प्रीति और उसके पति रामबाबू का विवाद होने लगा। विवाद आए दिन होने के कारण दो महीने पहले प्रीति ने एसिड पी लिया था। जिससे उसकी हालत बिगड़ गई थी। जिसके बाद परिजनों ने उसे इलाज के लिए पीजीआई लखनऊ में भर्ती करवाया था। जहां उसकी इलाज के दौरान मंगलवार को उसकी मौत हो गई।

मायके वाले पुलिस लेकर मौके पर पहुंचे

प्रीति के ससुराल वाले उसके शव को लेकर अंतिम संस्कार करने उरई आए। इसकी सूचना उन्होंने मायके वालों को भी नहीं दी थी। जब इसकी जानकारी प्रीति के मायके वालों को हुई। तो वह मौके पर उरई कोतवाली पुलिस लेकर पहुंचे। जहां उन्होंने हत्या का आरोप लगाया। पुलिस ने मायके वालों की शिकायत पर महिला के अंतिम संस्कार को रुकवा दिया। साथ ही शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

पीएम रिपोर्ट के आधार पर होगी कार्रवाई

इस मामले में उरई कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक नागेंद्र कुमार पाठक ने बताया कि प्रीति के परिजनों की तरफ से शिकायत मिली थी कि ससुराल वालों ने उसकी हत्या की है। इसी आधार पर शव को कब्जे में लिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जायेगी।