जालौन जिले में जल्द शुरू होगा दस्तक अभियान:घर-घर पहुंचेगी स्वास्थ्य विभाग की टीम, CMO ने बैठक कर स्वास्थ्य अधिकारियों को समझाई जिम्मेदारियां

जालौन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जालौन जिले में जल्द शुरू होगा दस्तक अभियान। - Dainik Bhaskar
जालौन जिले में जल्द शुरू होगा दस्तक अभियान।

जालौन जिले में संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान को लेकर बृहस्पतिवार को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक सीएमओ कार्यालय स्थित अचल प्रशिक्षण केंद्र में हुई। इसमें स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को उनकी जिम्मेदारियां समझाकर लक्ष्य आदि पर चर्चा की गई।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एनडी शर्मा ने बताया कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान 18 अक्टूबर से 17 नवंबर तक चलाया जाना है। इसी दौरान 18 अक्टूबर से एक नवंबर तक दस्तक अभियान भी चलाया जाएगा, जिसमें स्वास्थ्य विभाग की टीमें घर-घर जाकर जुकाम, बुखार, कोरोना, खांसी आदि बीमारियों के मरीजों के साथ कुपोषित बच्चों का सर्वे करेंगी और इसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को देंगी। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की जिम्मेदारी रहेगी कि वह बीमार लोगों को इलाज मुहैया कराएं। अभियान की रोजाना समीक्षा की जाएगी। इसमें किसी तरह की लापरवाही न बरती जाए।

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी व नोडल अधिकारी डॉ. एसडी चौधरी ने बताया कि फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दी गई है कि बुखार, जुकाम, डेंगू, क्षय रोगी और कुपोषित बच्चों की सूची तैयार करने का काम करेंगी। उन्होंने बताया कि अभियान को सफल बनाने के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को अभियान का नोडल बनाया गया है। इसके साथ ही नगर विकास विभाग, पंचायती राज विभाग, ग्राम्य विकास विभाग, पशुपालन विभाग, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग, शिक्षा विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग, दिव्यांग जन सशक्तिकरण विभाग, कृषि एवं सिंचाई विभाग, सूचना विभाग, उद्यान विभाग को सहयोगी विभाग के रूप में शामिल किया गया है।

इन विभागों को जिम्मेदारी दी गई है कि वह संचारी रोगों की रोकथाम में मदद करें। उन्होंने बताया कि अभियान में शामिल टीमों की यह भी जिम्मेदारी रहेगी कि वह कोरोना टीकाकरण के लिए लोगों को प्रेरित करें। इस दौरान जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. संजीव प्रभाकर, डब्लूएचओ की एसएमओ डॉ. रुपल श्रीवास्तव, जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. जीएस स्वर्णकार, पाथ संस्था के डॉ. मानस शर्मा आदि मौजूद रहे।

फाइलेरिया के खिलाफ चलेगा अभियान

वेक्टर बार्न डिजीज के नोडल अधिकारी डॉ. एसडी चौधरी ने बताया कि फाइलेरिया के खिलाफ जंग के लिए 22 नवंबर से अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए घर-घर जाकर टीमें लोगों को फाइलेरिया से बचाव की दवा अपने सामने खिलाएंगी। टीम को निर्देशित किया गया है कि दो साल से छोटे बच्चों, गर्भवती, गंभीर रूप से बीमारी लोगों को दवा नहीं खिलाई जानी है। इसके अलावा सभी को दवा खिलाई जानी है।

खबरें और भी हैं...