पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उरई पुलिस की लापरवाही...मुर्दे पर FIR:लव मैरिज के बाद दंपति में होता था झगड़ा, दो दिन पहले युवक ने फांसी लगाकर दी थी जान, पत्नी की शिकायत पर मृत युवक पर मुकदमा

जालौन18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोतवाली के प्रभारी विनोद कुमार पांडेय को लाइन हाजिर किया गया है। - Dainik Bhaskar
कोतवाली के प्रभारी विनोद कुमार पांडेय को लाइन हाजिर किया गया है।

जालौन जिले के उरई कोतवाल ने एक मुर्दे के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है। कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार पांडेय के आदेश पर मृत युवक पर मारपीट और थोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। जबकि आरोपी दो दिन पहले ही फांसी लगाकर अपनी जान दे चुका है। एसपी रवि कुमार ने पूरे मामले की जांच के आदेश दिये हैं। साथ ही शहर कोतवाल को तत्काल लाइन हाजिर कर दिया है।

प्रेम विवाह के बाद होता रहता था झगड़ा

मामला शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला राजेंद्र नगर से जुड़ा हुआ है। परिजनों ने बताया कि सागर ने पूजा के साथ प्रेम विवाह किया था। प्रेम विवाह के बाद में आए दिन दोनों में कहा सुनी हुआ करती थी। शनिवार को इसी के चलते सागर गुप्ता ने घर पर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। पुलिस ने उसके शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। इसके बाद में मृतक सागर के खिलाफ उसकी पत्नी पूजा ने कोतवाली में मारपीट व धोखाधड़ी की तहरीर दी थी, जिस पर उरई कोतवाल विनोद पांडेय के आदेश पर मारपीट व धोखाधड़ी की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

शनिवार को सागर गुप्ता ने घर पर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी।
शनिवार को सागर गुप्ता ने घर पर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी।

एसपी बोले- जल्दबाजी में हुई एफआईआर

पुलिस अधीक्षक रवि कुमार का कहना है कि मृत व्यक्ति के खिलाफ रिपार्ट दर्ज Kकरने का मामला संज्ञान में आया है। पूरे मामले की जानकारी के लिए अपर पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए गए है। एफआईआर जल्दबाजी में हुई है या किसी गलतफहमी में। इसकी गंभीरता से जांच कराने के बाद दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

कोतवाल से प्रताड़ित होकर सिपाही ने दिया था इस्तीफा

लगभग 1 हफ्ते पहले सिपाही अरविंद किशोर ने कोतवाल विनोद कुमार पांडेय की कार्यप्रणाली से खफा होकर त्यागपत्र दे दिया था। उसने उरई कोतवाल पर कई गंभीर आरोप भी लगाए थे। जिसके बाद एसपी ने कोतवाल के खिलाफ कार्रवाई न करते हुए सिपाही का ही स्थानांतरण कर दिया था। लेकिन कोतवाल की कार्यप्रणाली लगातार सुर्खियों में रही और एक बार फिर उनके कारनामे सामने आए, जहां उन्होंने मृतक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर दी।

खबरें और भी हैं...