जालौन में करंट से झुलसकर मां-बेटे की मौत:हाई टेंशन लाइन से पोल में उतरा था करंट, बचाने का प्रयास करने में बहु भी झुलसी

जालौन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जालौन में करंट से झुलसी सत्यवती का जिला अस्पताल में चल रहा इलाज। - Dainik Bhaskar
जालौन में करंट से झुलसी सत्यवती का जिला अस्पताल में चल रहा इलाज।

जालौन में एक मां-बेटे की करंट से झुलसकर मौत हो गई। दोनों को बचाने की कोशिश करने में मृतक की पत्नी भी घायल हो गई। जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा है। यह तीनों खेत पर काम कर रहे थे। तभी अचानक हाई टेंशन लाइन से बिजली के खंभे में करंट उतर गया। जिससे टकराने के चलते पहले मां को करंट लगा। फिर उसे बचाते वक्त बेटा भी झुलसने लग गया। दोनों को इस हालत में देखकर बहु उन्हें बचाने गई तो वह भी करंट लगने से घायल हो गई। बाद में गांव वालों ने तीनों को अस्पताल भेजा। जहां डॉक्टरों ने दो को मृत घोषित कर दिया। बिजली विभाग की लापरवाही के चलते पिछले 48 घंटे में 3 लोगों की मौत हो चुकी है।

खंभे को छूते ही चिपक गई थी महिला
जिले के डकोर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम खरका का है। यहां की रहने वाली शिवकली व उसका बेटा विनय खेत में काम कर रहे थे। काम करते समय खेत से निकली हाई टेंशन लाइन के खंभे में अचानक करंट उतर आया था। जिसको छूते ही मां- बेटे करंट की चपेट में आकर झुलस गए।

बचाते वक्त बहु गंभीर रूप से हुई घायल
सास और पति को करंट की चपेट में देख पास के खेत में काम कर रही उसकी बहु सत्यवती दोनों को बचाने पहुंची। इस दौरान वह भी झुलस गई। हालांकि, पास के खेत में काम कर रहे ग्रामीणों ने मां-बेटे और बहु को करंट से बचा कर जिला अस्पताल उरई पहुंचाया। जहां डॉक्टर ने मां-बेटे को मृत घोषित कर दिया। वही बहू सत्यवती का इलाज किया जा रहा है।

गांव वालों ने तीनों को आनन-फानन में पहुंचाया अस्पताल।
गांव वालों ने तीनों को आनन-फानन में पहुंचाया अस्पताल।

क्या बोले डॉक्टर
वहीं इस मामले में जिला अस्पताल में तैनात डॉक्टर ए के सिंह ने बताया कि एक ही परिवार के तीन लोगों को झुलसी हुई हालत में लाया गया था। जिसमें मां बेटे की मौत हो गई। जबकि मृतक की पत्नी का जिला अस्पताल में इलाज किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...