बदलापुर में बीईओ की चेतावनी:बिना मान्यता के चल रहे विद्यालय यदि बन्द नहीं हुए तो होगी एफआईआर, दो अुनदेशकों पर गिरी गाज

बदलापुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

खण्ड शिक्षा अधिकारी बदलापुर शैलेंद्र त्रिपाठी ने क्षेत्र में बिना मान्यता प्राप्त के चल रहे चार विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने प्रबन्धकों को नोटिस पकड़ाते हुए चेताया कि यदि बगैर मान्यता प्राप्त के यदि विद्यालय चलाया गया तो प्रबन्धक पर एफआईआर दर्ज कराए जाने के साथ ही आर टी एक्ट के तहत एक लाख रुपये की पेनाल्टी वसूली जाएगी।

मान्यता की शर्तों के अनुसार ही विद्यालय का संचालन किया जाए। मान्यता के लिए निर्धारित स्थल के अतिरिक्त अन्यत्र संचालन करना विधि सम्मत नहीं है। एक विद्यालय के नाम से अन्य शाखा संचालित करना दंडनीय है। यदि कोई व्यक्ति बिना मान्यता अथवा मान्यता वापस लेने के पश्चात विद्यालय संचालित करता मिला, तो उस पर जुर्माना किया जाएगा। उन्होंने बिना मान्यता प्राप्त के श्रीराम बालिका इन्टर कालेज मुरादपुर उसराबाजार, बाबा विश्वनाथ पब्लिक स्कूल पट्टीदयाल, राजबली उपाध्याय शिक्षण संस्थान रमनीपुर तथा आर पीछे पब्लिक स्कूल खालिशपुर का निरीक्षण किया है।

अनुदेशकों पर गिरी गाज
वहीं विद्यालय से अनुपस्थित चल रहे दो अनुदेशकों की सेवा समाप्ति के लिए खण्ड शिक्षा अधिकारी ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा0 गोरखनाथ पटेल को संस्तुति सहित कार्रवाई हेतु पत्र लिखा है। बदलापुर खण्ड शिक्षा अधिकारी शैलेंद्र त्रिपाठी ने कम्पोजिट विद्यालय नेवादामुखलिशपुर का निरीक्षण किया तो पाया कि अनुदेशक पद पर तैनात श्रीओम महीने में एक दो दिन ही विद्यालय में पढ़ाने आते हैं। उन्होंने मामले को संज्ञान में लिया।

इसी क्रम में उन्होंने जूनियर हाईस्कूल अर्जुनपुर का निरीक्षण किया। इस विद्यालय में भी अनुदेशक पद पर तैनात फूल चन्द यादव 22 अक्टूबर 2020 से अनुपस्थित चल रहे हैं। जिस पर उन्होंने नाराजगी जाहिर की और इन दोनों अनुदेशकों की सेवा समाप्ति के लिए खण्ड शिक्षा अधिकारी शैलेंद्र त्रिपाठी ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जौनपुर डॉ गोरखनाथ पटेल को पत्र लिखा है और इन पर कार्यवाही करने के लिए अनुरोध किया है।

खबरें और भी हैं...