जौनपुर पटाखा विस्फोट में महिला की मौत:2 दिन पहले पटाखा फैक्ट्री में हुआ था विस्फोट, 6 लोग गंभीर रूप से हुए थे घायल

जौनपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जौनपुर पटाखा विस्फोट में महिला की मौत। - Dainik Bhaskar
जौनपुर पटाखा विस्फोट में महिला की मौत।

जौनपुर जिले के मड़ियाहूं कोतवाली क्षेत्र के भंडरिया टोला मोहल्ले में हुए विस्फोट में 6 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे। 14 घंटे बाद मलबा हटाने पर आकिब नाम के एक बच्चे का शव बरामद हुआ था। वहीं विस्फोट में घायल हुई गुड़िया ने भी मंगलवार को उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। गुड़िया पटाखा कारोबारी मुश्ताक की पुत्र वधू बताई जा रही है। वहीं विस्फोट में घायल मुश्ताक की हालत भी नाजुक बनी हुई है। पुलिस ने गुड़िया के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पुलिस पर लगा लापरवाही का आरोप

मड़ियाहूं में हुए पटाखा विस्फोट में पुलिस विभाग की लापरवाही भी सामने आई थी। एक तरफ मड़ियाहूं कोतवाली के 500 मीटर दायरे में ही अवैध पटाखा फैक्ट्री संचालित हो रही थी। इस बात की भनक मड़ियाहूं कोतवाली को नहीं थी। दूसरी तरह मृतक के पिता ने रात में यह आशंका जताई थी कि उसके बेटे की साइकिल विस्फोट स्थल के पास दिखी है। रात 12 बजे मृतक के पिता ने थाने पर भी सूचना दी, लेकिन लापरवाह रवैया अपनाते हुए पुलिस ने इस मामले में शिथिल रवैया अपनाया।

अगर पुलिस प्रशासन रात में ही मलबा हटाने का काम करता तो शायद समय रहते आकिब को बचाया जा सकता था। सुबह जब प्रशासन ने मलबा हटाया तो उसमें से आकिब का शव बरामद किया गया। पूरे मामले में पुलिस की कार्यशैली पर भी सवालिया निशान उठ रहे हैं। घनी आबादी के बीच कोतवाली थाने से 500 मीटर दूर अवैध पटाखा फैक्ट्री चल रही थी और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं थी। जब रात 12 बजे मृतक के पिता ने आशंका जताई तो पुलिस ने देर रात मलबा हटाना उचित नहीं समझा।