योगी मंत्रिमंडल विस्तार पर ‘लल्लू’ ने कसा तंज:बोले- प्रदेश अध्यक्ष पिछड़े, डिप्टी सीएम पिछड़े, लेकिन पिछड़ी जातिगत जनगणना को सरकार ने रोका; किस मुंह से जाएंगे वोट मांगने

जौनपुर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
योगी मंत्रिमंडल विस्तार पर ‘लल्लू’ ने कसा तंज। - Dainik Bhaskar
योगी मंत्रिमंडल विस्तार पर ‘लल्लू’ ने कसा तंज।

योगी सरकार का कैबिनेट विस्तार दूरी बार हुआ है। इस दौरान 7 नए मंत्रियों ने शपथ ली है। नए मंत्रिमंडल में 1 ब्राह्मण, 3 ओबीसी, 2 दलित और एक एसटी समुदाय से हैं। इस मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने तंज कसा है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू जौनपुर में कार्यकर्ताओं की बैठक में हिस्सा लेने आए हुए थे।

पिछड़े समुदाय के लोगों के बीच में कैसे जाएंगे

भाजपा की डबल इंजन सरकार को आड़े हाथों लेते हुए लल्लू ने कहा कि भाजपा के युवा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह पिछड़े समुदाय से आते हैं। वहीं डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भी पिछड़े समुदाय से हैं, लेकिन जातिगत जनगणना को सरकार हलफनामा देकर रोक देती है। इनके मंत्री किस मुंह से दलित और पिछड़े समुदाय के लोगों के बीच में जाएंगे। सरकार में होते भी हुए भी यह लोग पिछड़ों को उनका अधिकार नहीं दे पा रहे हैं। उन्होंने निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा ने भले ही इन समुदाय से लोगों को मंत्री बनाया है, लेकिन आगे आने वाले 2022 के चुनाव में पिछड़ा समाज इनको सत्ता से बेदखल कर देगा।

प्रतापगढ़ के मामले पर क्या बोले लल्लू

प्रतापगढ़ में सांसद संगम गुप्ता की पिटाई के मामले में अजय कुमार लल्लू ने प्रमोद तिवारी का बचाव किया। अजय कुमार लल्लू ने कहा कि प्रमोद तिवारी कांग्रेस के सीनियर लीडर हैं। उन्होंने कहा कि घटनास्थल से यह दोनों लोग काफी दूर थे, लेकिन भारतीय जनता पार्टी द्वेषपूर्ण रवैया अपना रही है। सरकार ने दमनकारी रवैया अपनाते हुए प्रमोद तिवारी और आराधना मिश्रा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। कांग्रेस पार्टी प्रमोद तिवारी आराधना मिश्रा और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के साथ मजबूती से खड़ी है और निश्चित रूप से और सरकार का मुकाबला करेगी।

ललितेश के कांग्रेस छोड़ने पर बोले- उनका स्वार्थ छिपा हुआ था

ललितेश पति त्रिपाठी के कांग्रेस छोड़ने की बात पर अजय कुमार लल्लू ने कहा कि वह पार्टी के उपाध्यक्ष थे। इसके अलावा कौन है, जिसको राजस्थान में भी बड़ा दायित्व मिला था। पार्टी ने उनका पूरा सम्मान किया है, लेकिन कहीं न कहीं इसमें ललितेश पति त्रिपाठी का स्वार्थ छिपा हुआ है।

खबरें और भी हैं...