तस्वीरों में देखिए 15 जिलों में भारत बंद का असर:हापुड़ में सरकारी स्कूल पर किसानों ने लगाया ताला, शामली में आंदोलनकारियों से महिला बोली- इससे कुछ होने वाला नहीं है, मोदी की ही चलेगी

लखनऊ20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

किसानों के भारत बंद को लेकर जहां यूपी दिल्ली बॉर्डर जाम हो गया है। वहीं, यूपी के छोटे जिलों में किसानों का प्रदर्शन देखने को मिला है। यूपी में पश्चिम से लेकर पूरब तक और रूहेलखंड से लेकर बुंदेलखंड तक किसानों का हाइवे पर कब्जा रहा है।

हापुड़ में तो किसानों ने सरकारी स्कूल पर ताला लगा दिया, जबकि शामली में किसान आंदोलनकारियों से एक महिला भिड़ गई। उसने किसानों से कहा आएगा तो मोदी ही। यूपी में डेढ़ दर्जन जिलों में भारत बंद का मिलाजुला असर दिखा। कहीं एक घंटे तो कहीं 3 घंटे तक किसानों ने रास्ता रोके रखा। वहीं, जिला प्रशासन और पुलिस के अधिकारी किसी भी अनहोनी से निपटने के लिए मौके पर मुस्तैद रहे।

तस्वीरों में देखिए 15 जिलों में भारत बंद का क्या असर रहा-

हापुड़: यहां 3 घंटे तक किसानों ने जाम किया हाइवे

हापुड़ में भाकियू के कार्यकर्ताओं ने अलग अलग 7 स्थानों पर अपना प्रदर्शन किया। जिले में लखनऊ-दिल्ली हाईवे, मेरठ-बुलंदशहर हाईवे पर किसानों का कब्जा रहा।
हापुड़ में भाकियू के कार्यकर्ताओं ने अलग अलग 7 स्थानों पर अपना प्रदर्शन किया। जिले में लखनऊ-दिल्ली हाईवे, मेरठ-बुलंदशहर हाईवे पर किसानों का कब्जा रहा।
हापुड़ में ही गांव जरोठी में भाकियू कार्यकर्ताओं ने प्राथमिक विद्यालय पर ताला लगा दिया। स्कूल पर अपना झंडा लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया। स्कूल बंद होने के बाद बच्चों को बाहर निकाला गया और उन्हें अपने अपने घर भेज दिया गया।
हापुड़ में ही गांव जरोठी में भाकियू कार्यकर्ताओं ने प्राथमिक विद्यालय पर ताला लगा दिया। स्कूल पर अपना झंडा लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया। स्कूल बंद होने के बाद बच्चों को बाहर निकाला गया और उन्हें अपने अपने घर भेज दिया गया।

बागपत: भाकियू और रालोद कार्यकर्ताओं ने मिलकर किया धरना प्रदर्शन

बागपत के दर्जन भर रास्तों पर भाकियू, रालोद का कब्जा रहा। किसानों ने बागपत में बड़ौत स्थित दिल्ली बस स्टैंड, खेकड़ा पाठशाला, राष्ट्रवंदना चौक, किशनपुर बिराल और बड़ौत-मुज़फ्फरनगर मार्ग पर पुसार गांव के बस स्टैंड के पास, दाहा व बामनोली गांव, बिनौली क्षेत्र के दादरी गांव के मेरठ-बड़ौत हाइवे समेत कई जगहों पर जाम लगाये रखा।
बागपत के दर्जन भर रास्तों पर भाकियू, रालोद का कब्जा रहा। किसानों ने बागपत में बड़ौत स्थित दिल्ली बस स्टैंड, खेकड़ा पाठशाला, राष्ट्रवंदना चौक, किशनपुर बिराल और बड़ौत-मुज़फ्फरनगर मार्ग पर पुसार गांव के बस स्टैंड के पास, दाहा व बामनोली गांव, बिनौली क्षेत्र के दादरी गांव के मेरठ-बड़ौत हाइवे समेत कई जगहों पर जाम लगाये रखा।

बुलंदशहर: अलग अलग जगहों पर किसान यूनियन ने ट्रैक्टर ट्राली लगाकर हाईवे किया जाम

बुलंदशहर के औरंगाबाद में भाकियू ने बुलंदशहर-गढ़ हाईवे जाम किया। पुलिस इंस्पेक्टर से कार्यकर्ताओं की नोकझोंक भी हुई।
बुलंदशहर के औरंगाबाद में भाकियू ने बुलंदशहर-गढ़ हाईवे जाम किया। पुलिस इंस्पेक्टर से कार्यकर्ताओं की नोकझोंक भी हुई।

बिजनौर: यहां किसानों द्वारा किया गए भारत बंद का असर सिर्फ धरना प्रदर्शन तक ही सीमित दिखा

बिजनौर में लगभग 50 जगहों पर किसानों ने चक्का जाम किया है। छोटे-छोटे ग्रुप में किसान सब जगह धरना दे रहे हैं।
बिजनौर में लगभग 50 जगहों पर किसानों ने चक्का जाम किया है। छोटे-छोटे ग्रुप में किसान सब जगह धरना दे रहे हैं।

अमरोहा: किसानों ने 7 स्थानों पर किया हाइवे जाम

अमरोहा में किसान यूनियन के अलग अलग संगठनो के द्वारा जिले में कैलसा बॉर्डर, नेशनल हाईवे रजबपुर, धनोरा, हसनपुर, गंगेश्वरी समेत करीब सात स्थानों पर धरना दिया और नेशनल हाईवे पर चक्का जाम किया गया।
अमरोहा में किसान यूनियन के अलग अलग संगठनो के द्वारा जिले में कैलसा बॉर्डर, नेशनल हाईवे रजबपुर, धनोरा, हसनपुर, गंगेश्वरी समेत करीब सात स्थानों पर धरना दिया और नेशनल हाईवे पर चक्का जाम किया गया।

संभल: प्रदर्शनकारियों की हुई आम नागरिकों से झड़प

संभल जिले में संभल-दिल्ली और संभल-अनूपशहर मार्ग समेत जिले में किसानों ने आधा दर्जन जगहों पर रोड जाम किया। जाम लगने के बाद वाहन चालकों की किसानों से नोकझोंक भी हुई।
संभल जिले में संभल-दिल्ली और संभल-अनूपशहर मार्ग समेत जिले में किसानों ने आधा दर्जन जगहों पर रोड जाम किया। जाम लगने के बाद वाहन चालकों की किसानों से नोकझोंक भी हुई।

पीलीभीत: किसानों के समर्थन में कई घंटे तक व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे

पीलीभीत मेंनवीन मंडी स्थल से जब किसानों का हुजूम निकला तो पुलिस ने बैरिकेडिंग लगा दी। हालांकि, किसानों ने बैरिकेडिंग तोड़ कर हाइवे जाम कर दिया। इस दौरान करीब 2 घंटे तक जाम लगा रहा।
पीलीभीत मेंनवीन मंडी स्थल से जब किसानों का हुजूम निकला तो पुलिस ने बैरिकेडिंग लगा दी। हालांकि, किसानों ने बैरिकेडिंग तोड़ कर हाइवे जाम कर दिया। इस दौरान करीब 2 घंटे तक जाम लगा रहा।

शामली: बाजारों में नहीं दिखा बंद का असर

शामली में 10 जगहों पर भारतीय किसान यूनियन के साथ अन्य पार्टियों के नेताओं ने चक्का जाम किया है। वहीं गुरुद्वारे पर धरना दे रहे किसान संयुक्त मोर्चा के लोगों को एक महिला ने मौके पर आकर चेतावनी दी। महिला ने कहा कि इससे कुछ होने वाला नहीं है। मोदी की ही चलेगी, मोदी अच्छे आदमी हैं।
शामली में 10 जगहों पर भारतीय किसान यूनियन के साथ अन्य पार्टियों के नेताओं ने चक्का जाम किया है। वहीं गुरुद्वारे पर धरना दे रहे किसान संयुक्त मोर्चा के लोगों को एक महिला ने मौके पर आकर चेतावनी दी। महिला ने कहा कि इससे कुछ होने वाला नहीं है। मोदी की ही चलेगी, मोदी अच्छे आदमी हैं।

मुजफ्फरनगर: टिकैत बंधु के परिवार ने प्रदर्शन की कमान संभाली

मुजफ्फरनगर में रामपुर तिराहे पर राकेश टिकैत के पुत्र चौधरी चरण सिंह टिकैत नेतृत्व संभाले हुए हैं। दिल्ली देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग 58 पर भाकियू द्वारा नावला कोठी, रामपुर तिराहा और मुजफ्फरनगर-सहारनपुर हाईवे पर स्थित टोल प्लाजा पर मार्ग पर ट्रैक्टर ट्रॉली खड़ी कर जाम लगाया गया है।
मुजफ्फरनगर में रामपुर तिराहे पर राकेश टिकैत के पुत्र चौधरी चरण सिंह टिकैत नेतृत्व संभाले हुए हैं। दिल्ली देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग 58 पर भाकियू द्वारा नावला कोठी, रामपुर तिराहा और मुजफ्फरनगर-सहारनपुर हाईवे पर स्थित टोल प्लाजा पर मार्ग पर ट्रैक्टर ट्रॉली खड़ी कर जाम लगाया गया है।

रामपुर: बेअसर रहा भारत बंद

रामपुर में लगभग एक दर्जन लोग भारत बंद के समर्थन में इकठ्ठा होकर कलक्ट्रेट पहुंचे।
रामपुर में लगभग एक दर्जन लोग भारत बंद के समर्थन में इकठ्ठा होकर कलक्ट्रेट पहुंचे।

कौशांबी: 2 घंटे तक जाम कर रखा हाईवे

कौशांबी में किसानो की तीखी नोकझोंक हुई। जाम कर रहे किसानों को पुलिस ने रास्ते से हटा दिया।
कौशांबी में किसानो की तीखी नोकझोंक हुई। जाम कर रहे किसानों को पुलिस ने रास्ते से हटा दिया।

ललितपुर: पुलिस ने कुछ देर में ही किसानों का धरना ख़त्म करा दिया

यहां किसान आंदोलन को समर्थन देते हुए सपा कार्यकर्ताओं ने भी धरना प्रदर्शन किया।
यहां किसान आंदोलन को समर्थन देते हुए सपा कार्यकर्ताओं ने भी धरना प्रदर्शन किया।

जौनपुर: एक घंटे जाम रहा एनएच

जौनपुर में वाम दलों ने किसान आदोलन का समर्थन किया है। जुलूस में शामिल संगठन और पुलिस प्रशासन के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई।
जौनपुर में वाम दलों ने किसान आदोलन का समर्थन किया है। जुलूस में शामिल संगठन और पुलिस प्रशासन के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई।

बांदा: भारत बंद का असर नहीं दिखा

शहर के अशोक लाट चौराहे पर किसान जमा हुए लेकिन पुलिस ने उन्हें कुछ देर में ही हटा दिया।
शहर के अशोक लाट चौराहे पर किसान जमा हुए लेकिन पुलिस ने उन्हें कुछ देर में ही हटा दिया।

कासगंज: किसानों ने पीएम को भेजा चेतावनी पत्र

किसान यूनियन ने रोडवेज बस स्टैंड पर रोड जाम कर अपना धरना प्रदर्शन किया।
किसान यूनियन ने रोडवेज बस स्टैंड पर रोड जाम कर अपना धरना प्रदर्शन किया।
खबरें और भी हैं...