जौनपुर में ठप हुआ मेडिकल कॉलेज का काम:ठेकेदारों का करोड़ों रुपए बकाया, 36 भवनों का निर्माण कार्य अभी भी अधूरा

जौनपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जौनपुर में निर्माणाधीन उमानाथ सिंह मेडिकल कॉलेज का काम ठप हो गया है। पिछले दो दिनों से लगभग 500 मजदूरों ने पेमेंट न मिलने के कारण काम बंद कर दिया है। फिलहाल मेडिकल कॉलेज में लगभग 30 से अधिक भवनों का काम अभी भी अधूरा पड़ा हुआ है। जिम्मेदार लोगों के उदासीन रवैये के कारण महत्वाकांक्षी योजना के शुरू होने पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं।

2 दिनों से मजदूरों ने ठप किया काम

जौनपुर के मेडिकल कॉलेज का काम पूरा होने से पहले ही बंद हो गया है। आलम यह है कि भुगतान न होने के कारण 2 दिनों से मजदूरों ने काम ठप कर दिया है। राजकीय निर्माण निगम की मानें तो बजट नहीं मिलने के कारण काम बंद हुआ है। मेडिकल कॉलेज में अभी भी 30 से अधिक ऐसे भवन हैं, जिनका काम अधूरा पड़ा हुआ है। मेडिकल कॉलेज का रेजिडेंट गर्ल्स और बॉयज हॉस्टल, ऑडिटोरियम एडमिन भवन और टीचर रूम अभी भी अधूरा पड़ा हुआ है।

शासन से 80 करोड़ का बजट स्वीकृत हुआ

राजकीय निर्माण निगम के ए.ई आरके सिंह बताते हैं, शासन से 80 करोड़ का बजट स्वीकृत किया हुआ था। लेकिन अभी तक वह मिल नहीं पाया है। बजट न मिलने से निर्माण एजेंसी टाटा ने श्रमिकों का भुगतान नहीं किया है। इसके चलते समस्या खड़ी हो गई है और मजदूरों ने काम करने से अपने हाथ खड़े कर दिए हैं। उन्होंने बताया कि मौजूदा वक्त में लगभग 500 से अधिक मजदूर मेडिकल कॉलेज के निर्माण कार्य में लगे हुए हैं।

बिल क्लियर होने के बाद भी नहीं हो रही पेमेंट

आलम यह है कि भुगतान के लिए निर्माण एजेंसी के अफसरों का चक्कर लगाया जा रहा है। नाम न छापने की शर्त पर ठेकेदार बताते हैं कि बिल क्लियर होने के बावजूद उनकी पेमेंट नहीं हो रही है। ऐसे में जब पैसा नहीं मिलेगा तो मेडिकल कॉलेज जैसी महत्वाकांक्षी योजना का निर्माण कार्य कैसे पूरा होगा। पिछले 2 दिनों से मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य ठप हो गया है।