• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Jaunpur
  • Families Trapped In The Bush, Kept Dying One By One; After The Fourth Death, The People Of The Village Informed The Health Department, The Family Would Be Under Surveillance For 5 Days.

जौनपुर में फूड प्वाइजनिंग, दो परिवारों से 4 की मौत:झाड़ फूंक के चक्कर में फंसा परिवार, एक-एक कर मरते रहे; चौथी मौत के बाद गांव के लोगों ने हेल्थ डिपार्टमेंट को दी सूचना, 5 दिन की निगरानी में रहेगा परिवार

जौनपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विभाग की ओर से फौरन एक टीम भेजी गई है, जो 5 दिनों तक इस परिवार की निगरानी रखेगी। - Dainik Bhaskar
विभाग की ओर से फौरन एक टीम भेजी गई है, जो 5 दिनों तक इस परिवार की निगरानी रखेगी।

उत्तर प्रदेश के जौनपुर में दो परिवार फूड प्वॉइजनिंग की चपेट में आ गए। हैरत की बात ये है कि परिवार के चार लोगों ने झाड़ फूंक के चक्कर में आकर जान गवां दी। 5 दिन तक इलाज नहीं कराया। एक-एक कर मौत होती रही। बुधवार को चौथी मौत के बाद गांव के लोगों ने स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी।

विभाग की ओर से फौरन एक टीम भेजी गई है, जो 5 दिनों तक इस परिवार की निगरानी रखेगी। फिलहाल, गांव में और पीड़ित परिवार के घर के आसपास फॉगिंग भी कराई जा रही है। दवाएं दिए जाने के बाद परिवार के अन्य सदस्य अब स्वस्थ हैं।

मीट खाने के बाद बिगड़ी हालत
परिवार से बातचीत में पता चला है कि सुगमा (50) पत्नी स्व. फूलचंद्र 20 जुलाई को कहीं से मीट लेकर आईं थीं। परिवार ने मिल बांटकर खाया। इसके बाद दो दिन बाद फिर परिवार के ही सूरज बनवासी के यहां मीट बना। इसे खाने के बाद से तबीयत बिगड़ गई। अस्पताल न जाकर झाड़ फूंक कराने लगे। इसके चलते 23 जुलाई को सुगमा की मौत हो गई। इसके बाद बबली (2) ने भी दम तोड़ दिया। दूसरे परिवार की नंदिनी (8) पुत्री पिंटू की तबीयत भी काफी खराब हो गई। गोपीगंज में झाड़फूंक कराते रहे। 27 जुलाई को उसकी भी मौत हो गई। बुधवार को सूरज (22) रिश्तेदारी में पिलकेथुआ गया था। यहां झाड़-फूंक कराने लगा। वह भी बच नहीं सका।

घर के आसपास से छिड़काव कराया गया है। हेल्थ टीम ने दवा का वितरण किया है। परिवार के लोगों को 5 दिन तक निगरानी में रखा जाएगा।
घर के आसपास से छिड़काव कराया गया है। हेल्थ टीम ने दवा का वितरण किया है। परिवार के लोगों को 5 दिन तक निगरानी में रखा जाएगा।

फूड प्वॉइजनिंग का यह मामला डीएम मनीष वर्मा, एसडीएम मंगलेश दुबे की जानकारी में है। तहसीलदार अमित कुमार त्रिपाठी ने गांव का मौका मुआयना किया और परिवार से मुलाकात की। वहीं, सीएमओ डॉ. जीएसबी लक्ष्मी ने फूड प्वॉइजनिंग के बाद झाड़फूंक के चक्कर में पड़ने से चार लोगों की मौत होने की बात कही है। उन्होंने बताया कि गांव में स्वास्थ्य विभाग की एक टीम लगाई गई है।

खबरें और भी हैं...