जौनपुर पहुंचे पूर्व सीएम अखिलेश यादव:बोले- भाजपा सरकार ने किसानों की पैदावार को दोगुना करने का वादा किया था, लेकिन महंगाई को दुगना कर दिया

जौनपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व सीएम ने कहा कि भाजपा ने किसानों के साथ छल किया। - Dainik Bhaskar
पूर्व सीएम ने कहा कि भाजपा ने किसानों के साथ छल किया।

पूर्व दर्जा प्राप्त मंत्री डॉक्टर केयादव के निधन पर सांत्वना व्यक्त करने के लिए सूबे के पूर्व मुखिया अखिलेश यादव उनके पैतृक आवास जौनपुर पहुंचे। उत्तरगांवा गांव में वह दोपहर 2:40 पर हेलीपेड पर पहुंचे। इसके बाद अखिलेश यादव उन्होंने परिजनों से मुलाकात की। वह करीब 30 मिनट तक उनके घर पर रुके रहे।

मीडिया से बातचीत के दौरान अखिलेश यादव ने प्रदेश सरकार पर जमकर निशाना साधा। भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार ने प्रदेश की विकास के रफ्तार को रोक दिया है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसान महापंचायत का अखिलेश यादव ने स्वागत किया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने किसानों के साथ छल किया है। सरकार ने किसानों की पैदावार को दोगुना करने का वादा किया लेकिन महंगाई को दुगना कर दिया है।

बच्चों के इलाज में सरकार जनता को अनाथ छोड़ देती है

पूर्व सीएम ने कहा कि सरकार नाम बदल रही है तो उज्ज्वला योजना का नाम बदल कर बुझला योजना कर दे। अन्नदाताओं की आय दुगनी करने का वादा करने वाली सरकार अन्न महोत्सव मना कर उनका अपमान कर रही है। कोरोना की महामारी के दौरान बड़ी संख्या में लोगों की जान गयी थी। कोरोना की महामारी सरकार में अपने हाथ खड़े कर दिए थे और लोगों को अनाथ छोड़ दिया था। मौजूदा वक्त में भी बुखार के कारण बड़ी संख्या में बच्चों की मौत हो रही है और यह भी एक गंभीर बीमारी है।

आज बच्चों के इलाज में सरकार जनता को अनाथ छोड़ दी है। उन्होंने कहा कि सरकार को इन सब का भुगतान करना पड़ेगा और आने वाले समय में सरकार का सफाया हो जाएगा।

गरीबों को पैसा अमीरों को देना चाहती है सरकार

न्होंने कहा कि मौजूदा सरकार की नियत नहीं सही है सरकार सिर्फ झूठ बोलना चाहती है। उत्तर प्रदेश की सरकार गरीबों का पैसा अमीरों को देना चाहती है। सरकार की नजर और सिर्फ सरकारी संपत्ति को बेचने पर है। उन्होंने कहा कि भले ही राजनीतिक दल ब्राह्मण कार्ड खेल रहे हैं लेकिन समाजवादी पार्टी इस बार समाजवादी कार्ड और खुशहाली का कार्ड खेलेगी।

सरकार ने निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज का नाम बदल दिया और आप जौनपुर का भी नाम बदलने का विचार कर रही है. साफ़ तौर पर स्पष्ट होता है कि सरकार विकास पर काम नहीं करना चाहते हैं।

खबरें और भी हैं...