जौनपुर के बेटे की डेंगू से बनारस में मौत:हालत गंभीर होने पर किया था रेफर, जांच के बनाई गई 3 सदस्यीय टीम

जौनपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीएचयू में इलाज के दौरान गुरमीत की मौत हो गई। - Dainik Bhaskar
बीएचयू में इलाज के दौरान गुरमीत की मौत हो गई।

उत्तर प्रदेश में डेंगू की बीमारी तेजी के साथ पांव पसार रही है। जौनपुर में भी डेंगू के कुल 13 मरीज होने की पुष्टि जिला प्रशासन ने की है। इसी दौरान यह जानकारी दी गई कि डेंगू से ग्रसित 8 वर्षीय बालक गुरमीत की इलाज के दौरान वाराणसी में मौत हो गई है। जौनपुर के खेतासराय क्षेत्र के भुडकुडहा निवासी दिलीप अपने 8 वर्षीय पुत्र को सोमवार जिला चिकित्सालय लेकर आए थे। दिलीप के 8 वर्ष के पुत्र कई दिनों से तेज बुखार था।

शनिवार को उसे निजी अस्पताल में दिखाया गया था। इस दौरान लगातार उसके प्लेटेलेट्स में गिरावट आ रही थी। हालत गंभीर होने पर सोमवार की दोपहर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों ने बेहतर इलाज के लिए उसे बनारस के बीएचयू में रेफर कर दिया था। यहां उपचार के दौरान बच्चे की मौत हो गयी।

निजी अस्पताल के खिलाफ होगी जांच

डेंगू से मौत के मामले में जिला प्रशासन सख्त रवैया अपनाने जा रहा है। मुख्य विकास अधिकारी आईएएस अनुपम शुक्ला ने बताया कि तीन सदस्यीय जांच टीम का गठन कर दिया गया है और निजी अस्पताल के खिलाफ जांच शुरू की जा रही है। उन्होंने बताया कि निजी अस्पताल में भर्ती होने के कारण मरीज की हालत गंभीर हो गई थी। प्लेटलेट्स में लगातार गिरावट हो रही थी। हालत गंभीर होने पर उसे जिला अस्पताल बेहतर इलाज के लिए लाया गया था। मरीज का NS1 टेस्ट डेंगू पॉजिटिव आया था। निजी अस्पताल में भर्ती मरीज का सही उपचार नहीं हुआ था। ऐसे में तीन सदस्य की टीम गठित की गई है जो निजी अस्पताल के खिलाफ जांच करेगी।

सोमवार से होगा एलिजा टेस्ट

कुछ दिनों पहले दैनिक भास्कर ने एलिजा टेस्ट ना होने को लेकर खबर दिखाई थी। इस खबर को संज्ञान में लेते हुए मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि सोमवार से जिला अस्पताल में एलिजा टेस्ट शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि जनपद में कुल डेंगू की 26,000 किट उपलब्ध है।

62 लोगों का डेंगू टेस्ट, नहीं मिला कोई पॉजिटिव

मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ला ने बताया कि सोशल मीडिया पर खबरें चल रही है कि विकासखंड मड़ियाहूं के मुकुंदपुर गांव में 3 लोगों की मृत्यु डेंगू के कारण हुई है। उन्होंने बताया कि यह खबर पूरी तरह से निराधार है और किसी भी व्यक्ति की डेंगू से मौत नहीं हुई है। हालांकि गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम को भेजा गया था और वहां पर 62 लोगों का डेंगू टेस्ट किया गया जिसमें कोई भी मरीज डेंगू पॉजिटिव नहीं पाया गया।

खबरें और भी हैं...