• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Jaunpur
  • Maintenance Charge Of District Hospital Stopped In Jaunpur: Ambulances Parked At The Same Place For Months In Jaunpur District Hospital, Many Wheels Missing; CMO Stopped The Maintenance Charge Due To Proper Maintenance

जौनपुर जिला अस्पताल में एंबुलेंस बीमार:महीनों से एक ही जगह पर खड़ीं एंबुलेंस, कई के पहिए गायब; ठीक रख रखाव न होने पर CMO ने रोका मेंटेनेंस चार्ज

जौनपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएमओ ने मेंटेनेंस चार्ज रोक दिया है। - Dainik Bhaskar
सीएमओ ने मेंटेनेंस चार्ज रोक दिया है।

स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूत करने में एम्बुलेंस की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। दूर दराज के इलाकों से मरीज को अस्पताल पहुंचाने के लिए एंबुलेंस में स्वास्थ्य संबंधी काफी सुविधाएं होती हैं। लेकिन जौनपुर के जिला अस्पताल में एंबुलेंस महीनों से एक ही जगह पर खड़ी हैं। कई के पहिए गायब हो गए हैं। वहीं जो चल रही हैं, उनमें सुविधाएं नहीं हैं।

सीएमओ जीएस लक्ष्मी ने रखरखाव के लिए एम्बुलेंस को दिए जाने वाले 10% मेंटीनेंस चार्ज पर रोक लगा दी है। उन्होंने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि जब तक एंबुलेंस में सभी सुविधाएं मुहैया नहीं हो जाती है तब तक इन का 10 परसेंट मेंटेनेंस चार्ज नहीं मिलेगा।

जिला अस्पताल में धूल खा रही एंबुलेंस।
जिला अस्पताल में धूल खा रही एंबुलेंस।

शहर की कई एम्बुलेंस की हालत ख़स्ता हो चुकी है। मरीज को आपातकाल सेवा में ढोने वाली कई एम्बुलेंस या तो जर्जर अवस्था मे हैं या फिर खुद बीमार हो गई हैं। इनमें से कई एम्बुलेंस जिला अस्पताल परिसर के अंदर खटारा हालत में खड़ी हैं। ऐसे में इमरजेंसी केस में कई बार एंबुलेंस के अंदर स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव होता है। फर्स्ट एड किट से लेकर कई मेडिकल इक्विपमेंट्स एंबुलेंस में होते हैं जो जरूरत पड़ने पर काम आते हैं। लेकिन रख रखाव के अभाव में यह मेडिकल इक्विपमेंट सही हालत में नहीं होते हैं।

कई एंबुलेसं की पहिए गायब हो गए हैं।
कई एंबुलेसं की पहिए गायब हो गए हैं।

इमरजेंसी के दौरान काम नहीं करते इक्विपमेंट

मुख्य चिकित्सा अधिकारी जीएस लक्ष्मी ने बताया कि एंबुलेंस की व्यवस्था को मजबूत किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनके पास पूरी एक चेक लिस्ट है। चेक लिस्ट के हिसाब से एंबुलेंस में जो सुविधाएं होनी चाहिए वह मौजूद नहीं हैं। उन्होंने बताया कि ऐसे में उन्होंने 10 परसेंट मेंटेनेंस शुल्क जो एंबुलेंस को दिया जाता है उसे रोक दिया है।

मरीाजें को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।
मरीाजें को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

उन्होंने कहा कि कई बार ऐसी शिकायतें प्राप्त हुई है कि एंबुलेंस में इमरजेंसी हेल्थ सेवा के दौरान कई मेडिकल इंस्ट्रूमेंट और इक्विपमेंट काम नहीं करते हैं। ऐसे में मरीजों को तमाम तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि जब तक एंबुलेंस में सारी सुविधाएं दुरुस्त नहीं हो जाएंगी तब तक वह 10% पेमेंट जो मेंटेनेंस के नाम पर दिया जाता है उसे रिलीज नहीं करेंगी।

खबरें और भी हैं...